वायरल

Success story: कद है छोटा मगर हौसले आसमां जितने बुलंद, जानिए IAS आरती डोगरा की सफलता की प्रेरणादायक कहानी

Diksha Gupta
23 Sep 2022 7:38 AM GMT
Success story: कद है छोटा मगर हौसले आसमां जितने बुलंद, जानिए IAS आरती डोगरा की सफलता की प्रेरणादायक कहानी
x
मिलिए 3.5 फीट की सबसे छोटी महिला आईएएस ऑफिसर से जिनके काम से कांप उठते हैं सरकारी महकमे...

IAS बनने के लिए आज लोग कितनी मेहनत करते हैं. इनमें से कुछ सफल होते हैं और कुछ नहीं भी. आज हम आपको एक ऐसी लड़की की कहानी बताने जा रहे हैं जिसका समाज में मजाक उड़ाया गया लेकिन उसने कभी भी हार नहीं मानी. कदम छोटे होने के बावजूद उनका धैर्य हमेशा से बड़ा था.


जी हां हम आपको आईएएस अधिकारी आरती डोगरा के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने अपनी हिम्मत और सच्ची लगन से अपने लिए सफलता की सीढ़ी तैयार की. उत्तराखंड के देहरादून में जन्मी आरती डोगरा महज 3.5 फीट लंबी हैं. वह कर्नल राजेंद्र और कुमकुम डोगरा की बेटी हैं जो एक स्कूल प्रिंसिपल हैं. आरती डोगरा के माता-पिता ने जीवन के हर पहलू में उनका साथ दिया.



L

आरती डोगरा पहले ही प्रयास में सिविल परीक्षा में पास हो गई थी जब वह पैदा हुई तो डॉक्टरों ने कहा कि वह सामान्य स्कूल में नहीं जा पाएंगी लेकिन उन्होंने देहरादून के प्रतिष्ठित गर्ल्स कॉलेज में अपनी स्कूलिंग की और फिर दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक भी किया. बचपन से ही उन्हें शारीरिक भेदभाव का सामना करना पड़ा.इसके बावजूद आरती डोगरा ने भारत की सबसे कठिन परीक्षा यूपीएस परीक्षा भी पास की.


प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रपति तक से सम्मान मिल चुका है आरती डोगरा जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक (एमडी) के रूप में सेवा करने वाली पहली महिला आईएएस अधिकारी थीं. प्रशासन में अपने प्रभावी अभियानों और प्रदर्शन के कारण सुर्खियां बटोरीं. बीकानेर के जिला कलेक्टर के रूप में, आरती ने खुले में शौच मुक्त समाज बनाने के लिए 'बांको बिकानो' अभियान शुरू किया. स्वच्छता मिशन लोगों के व्यवहार और मानसिकता में बदलाव पर केंद्रित था.

Next Story