Hindi News: इस जगह पर लगती हैं सुंदर सुंदर महिलाओं की बोली, जहां आदमी ले जाता हैं अपनी मन चाही औरत

 
 इस जगह पर लगती हैं सुंदर सुंदर महिलाओं की बोली, जहां आदमी ले जाता हैं अपनी मन चाही औरत

Hindi News:  आपके लिए इस बात पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है, लेकिन ये सच है कि आज भी हमारे देश में महिलाओं की तस्करी धड़ल्ले से हो रही है. 

इस वेश्यावृत्ति के लिए म्यांमार समेत कई देशों से लड़कियों को बहला-फुसलाकर अवैध तरीके से भारत लाया जाता है। भारत लाने के बाद इन लड़कियों के लिए देश के अलग-अलग राज्यों में गुप्त बाजार लगाए जाते हैं, जहां इन लड़कियों की नीलामी की जाती है। अंत में इन लड़कियों को सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले को सौंप दिया जाता है।

दरअसल, यह चौंकाने वाला खुलासा हाल ही में राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) द्वारा गिरफ्तार किए गए तीन मानव तस्करों से पूछताछ के बाद हुआ है। तीनों तस्करों की पहचान रबी इस्लाम उर्फ रबीउल इस्लाम, शफी आलम उर्फ सोफी अलोम उर्फ सईदुल इस्लाम और मोहम्मद उस्मान के रूप में हुई है।

 ये सभी आरोपी म्यांमार के माउंगडा जिले के स्थायी निवासी हैं। एनआईए ने इन सभी आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है, जिसमें महिलाओं की तस्करी के साथ-साथ कई चौंकाने वाले बड़े खुलासे किए गए हैं.

एनआईए ने आरोप पत्र में खुलासा किया है कि इन तस्करों के निशाने पर बांग्लादेश में शरण लेने वाली रोहिंग्या महिलाएं थीं. आरोपी इन महिलाओं को रोहिंग्या पुरुषों के साथ शादी और बेहतर जिंदगी का झांसा देकर फंसाता था। 

जाल में फंसी महिलाओं को दलालों की मदद से अवैध तरीके से भारत लाया जाता था। इसके बाद इन महिलाओं को चोरी-छिपे उत्तर प्रदेश, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, हरियाणा आदि राज्यों के विभिन्न शहरों में पहुंचाया जाता था।

जहां इन महिलाओं को बेच दिया जाता था और जबरन शादी कराई जाती थी. एनआईए ने अपनी चार्जशीट में यह भी खुलासा किया है कि आरोपियों ने इन रोहिंग्या महिलाओं के अलावा कई अन्य विदेशी नागरिकों की भारत में घुसपैठ में मदद की है। एनआईए की जांच में इस बात के भी सबूत मिले हैं।

 रबी इस्लाम और मोहम्मद उस्मान ने अपनी असली पहचान छिपाने के लिए धोखाधड़ी से आधार कार्ड हासिल किए थे. बाद में इन आधार कार्डों का इस्तेमाल सिम कार्ड खरीदने और बैंक खाते खोलने के लिए भी किया जाने लगा।