चाय वाले ने 14 सालों में पत्नी को करवाई 26 देशों की यात्रा, रूस की यात्रा के बाद दिल का दौरा पड़ने से निधन
 

Chopal Tv, New Delhi

कहते है शौक बड़ी चीज है लेकिन महंगाई के इस दौर पर जरुरतें पूरी नहीं होती शौक तो दूर की बात है। लेकिन इस कहावत को एक बुजुर्ग दंपति ने झुठला दिया है। क्योंकि चाय बेचने वाला ये कपल 14 सालों में 26 देशों की यात्रा कर चुका है।

हम बात कर रहे हैं कोच्चि के मशहूर चाय विक्रेता आर विजयन की। जिनका हाल ही में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। आर विजयन की कोच्चि में चाय की छोटी सी दुकान है जिसका नाम है श्री बालाजी कॉफी हाउस। जहां उनकी पत्नी मोहना चाय और नाश्‍ता बनाती थी।

चाय बेचकर विजयन और उनकी पत्नी मोहना अपना विश्व भ्रमण का सपना पूरा कर रहे थे। यह दंपति हाल में रूस की यात्रा से लौटा था। रूस जाने के पहले विजयन ने कहा था कि वे अक्टूबर क्रांति की वर्षगांठ देखना चाहते हैं, जिसमें बोल्शेविक पार्टी ने 1917 में रूस में सत्ता पर कब्जा कर लिया था। वे शांत बहने वाले वोल्गा नदी को करीब से देखने के लिए काफी उत्‍साहित थे।

अब आप सोचेंगे कि चाय बेचकर कोई कितने पैसे कमा सकता है। तो ये दंपति चाय बेचकर हर रोज 300 रुपए बचाता था। पहली बार इस कपल ने साल 2007 में इजराइल की यात्रा की थी। जिसके बाद ये कपल पिछले 14 सालों में 26 देशों की यात्रा कर चुके है।

यात्राओं के लिए वे छोटे-छोटे कर्ज भी लेते थे। यात्रा से काफी दिन पहले से वे चाय की दुकान पर उसकी सूचना एक पोस्‍टर के रूप में लगा देते थे। उन्‍होंने पहले देश के सभी धार्मिक और पर्यटन स्थलों की यात्रा की थी। उन्‍होंने भगवान बालाजी के मंदिर में 100 से अधिक बार दर्शन किए थे।

इसके बाद वे देश के बाहर की यात्राएं भी करने लगे। दुनिया भर में यात्रा करने वाले इस दंपति की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उन्हें उद्योगपति आनंद महिंद्रा प्रायोजक के तौर पर मिले। जिन्होंने 2019 में उनकी ऑस्ट्रेलिया यात्रा को प्रायोजित किया।

विजयन ने मीडिया से अपनी यात्राओं को लेकर कहा था कि यात्रा मेरे खून में है। अनुभव सबसे अच्छा शिक्षक है और यात्रा सबसे अच्छा अनुभव, जो आपको अमीर बनाता है। दंपति की रूस की अंतिम यात्रा 21 अक्टूबर को हुई थी और वे 28 अक्टूबर को लौटे थे।

जाने-माने लेखक एन एस माधवन ने ट्वीट किया, ‘दुनिया के कई देशों की यात्राएं करने वाले एर्नाकुलम के चाय-विक्रेता विजयन का निधन। वह अभी रूस से लौटे थे, जहां पुतिन से उनके मिलने की इच्छा थी.विजयन के परिवार में पत्नी, दो बेटियां शशिकला, उषा और तीन नाती-नातिन हैं।