Chopaltv.com
Tokyo Paralympic 2020: हरियाणा के सिंहराज कोरोना और पोलियो को दे चुके हैं मात, अब देश के लिए जीता मेडल
 

Chopal Tv, Haryana

भारत के खिलाड़ी टोक्यो में हो रहे पैरालंपिक में शानदार प्रदर्शन कर रहे है। मनीष नरवाल ने जहां भारत के लिए तीसरा गोल्ड जीता तो वहीं सिंहराज अधाना ने पहले कांस्य पदक और अब 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा एसएच-1 में रजत पदक जीता है।

लेकिन सिंहराज को ये कामयाबी आसानी से नहीं मिली। उन्होंने आर्थिक परेशानियों और कोरोना संक्रमित होते हुए भी अपना संघर्ष जारी रखा और देश के लिए दो मेडल जीते। हैरानी की बात ये है कि जन्म से सिंहराज पोलियोग्रस्त थे।

सिंहराज हरियाणा के फरीदाबाद के तिगांव के रहने वाले है। फिलहाल वह अपने परिवार के साथ बल्लभगढ़ के ऊंचा गांव में रहते हैं। पैरालंपिक में जाने से पहले सिंहराज ने पीएम मोदी और अपने परिवाक को ये वादा किया था कि वो देश के लिए मेडल जरुर लेकर आएंगे।

बताया जाता है कि सिंहराज ने कोरोना काल में शूटिंग रेज की तैयारी जारी रखी थी। उन्होंने घर में ही शूटिंग रेंज तैयार कर ली थी और अभ्यास जारी रखा था। सिंहराज ने पीएम मोदी को बताया था कि उनकी पत्नी ने कविता ने अपने आभूषण गिरवी रखकर उन्हें खेल के लिए प्रेरित किया था।

लॉकडाउन के समय वह लगातार तैयारी करते रहे और अपने विदेशी खिलाड़ी दोस्तों से अभ्यास के तरीके पूछते थे। जब अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई तो सबसे पहले उन्होंने साल 2018 में एशियन गेम्स में मिली इनामी राशि यूज करके 10 मीटर और 50 मीटर का शूटिंग रेंज बनवाया।

ओलंपिक में इस्तेमाल होने वाले एमीनेशन से ही पैरालंपिक की तैयारी की। इससे हाल ही में यूएई में हुए विश्वकप में पदक हासिल किया था। इसके अलावा नेशनल राइफल शूटिंग एसोसिएशन ऑफ इंडिया के सहयोग से खेल को बल मिला।