Home Big Breaking लोन की किस्त चुकानेे वालों को मिली बड़ी राहत, अब तीन महीने और नहीं टेंशन, जानिये क्या-क्या मिली छूट

लोन की किस्त चुकानेे वालों को मिली बड़ी राहत, अब तीन महीने और नहीं टेंशन, जानिये क्या-क्या मिली छूट

9 second read

Chaupal TV, New Delhi

लॉक डाउन 4.0 के चलते आम आदमी और कारोबारियों पर पड़ रहे असर को देखते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया आरबीआई ने शुक्रवार को कई अहम घोषणाएं की। आरबीआई गवर्नर शशिकांत दास ने बताया कि लोन की किस्त चुकाने में 3 महीने की जो छूट मार्च में दी गई थी, उसे अगले 3 महीने यानी कि अगस्त तक बढ़ा दिया गया है।

होम लोन, ऑटो लोन सस्ते करने के लिए प्रमुख ब्याज दर रेपो रेट 0.40% घटाकर 4% पर ला दिया है। आपको बता दें कि यह 20 साल में सबसे कम रेपो रेट है। इसके साथ ही एमआई चुकाने में भी राहत दी गई है।

रेपो वह रेट है, जिस पर रिजर्व बैंक दूसरे बैंकों को कर्ज देता है। कर्ज की मांग बढ़ने पर बैंक रिजर्व बैंक से उधार लेते हैं। इसके लिए उन्हें निर्धारित ब्याज चुकाना होता है। रेपो रेट में कटौती का मतलब है कि बैंकों को रिजर्व बैंक से कम दर पर लोन मिलेगा।

रेपो रेट में कमी का फायदा..

आरबीआई जब रेपो रेट में कटौती करता है तो प्रत्यक्ष तौर पर बाकी बैंकों पर वित्तीय दबाव कम होता है। आरबीआई की ओर से हुई रेपो रेट में कटौती के बाद बाकी बैंक अपनी ब्याज दरों में कटौती करते हैं। इसकी वजह से आपके होम लोन और कार लोन की ईएमआई में कमी आती है। रेपो रेट कम होता है तो महंगाई पर नियंत्रण लगता है। ऐसा होने से देश की अर्थव्यवस्था को भी बड़े स्तर पर फायदा मिलता है। ऑटो और होम लोन क्षेत्र को फायदा होता है। रेपो रेट कम होने से कर्ज सस्ता होता है और उससे होम लोन में आसानी होती है।

आरबीआई ने मार्च में ऐलान किया था कि लोन की ईएमआई चुकाने में 3 महीने की छूट दी जाएगी अब इसे 3 महीने और बढ़ा दिया गया है। बैंकों को अगस्त तक ईएमआई वसूलने से रोका गया है। ग्राहक खुद चाहे तो भुगतान कर सकते हैं। बैंक इसका दबाव नहीं डालेगा।

आरबीआई ने मार्च में बैंकों को छूट दी थी कि अगले 3 महीनों तक वर्किंग कैपिटल लोन पर ब्याज नहीं वसूले। इसे अगले तीन महीनों के लिए और बढ़ा दिया गया है। वर्किंग कैपिटल लोन वह कर्ज होता है जिसे कंपनियां अपनी रोज की जरूरतों के लिए लेती हैं। ब्याज चुकाने में जो छूट ली जाएगी उसे एक अलग लोन की तरह किस्तों में चुका सकेंगे।

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि MPC ने रिपो रेट में कटौती का फैसला किया है, रिपो रेट में 40 बेसिस पॉइंट की कटौती हो गई है।

दास ने कहा कि रिपो रेट 4.40 फीसदी से घटकर 4 फीसदी किया गया, रिवर्स रिपो रेट में कोई बदलाव नहीं हुआ है लेकिन टर्म लोन की ईएमआई वसूली तीन महीने तक टालने की बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को इजाजत दी गई है।

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि पहली छमाही में भारत की जीडीपी ग्रोथ 2020-21 में निगेटिव रहेगी हालांकि साल के दूसरे हिस्से में ग्रोथ में कुछ तेजी दिख सकती है।

गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मार्च में कैपिटल गुड्स के उत्पादन में 36 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि कंज्यूमर ड्यूरेबल के उत्पादन में 33 फीसदी की गिरावट हुई है तो वहीं ओद्योगिक उत्पादन में मार्च में 17 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई है।

दास ने कहा कि मैन्युफैक्चरिंग में 21 फीसदी की गिरावट हुई तो वहीं कोर इंडस्ट्रीज के आउटपुट में 6.5 फीसदी की कमी सामने आई है लेकिनखरीफ की बुवाई में 44 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जिससे खाद्य महंगाई फिर अप्रैल में बढ़कर 8.6 फीसदी हो गई है।

हालांकि दालों की महंगाई चिंता का विषय है लेकिन उम्मीद की जा सकती है कि अगली छमाही में इसमें नरमी आ सकती है।

दास ने कहा कि साल 2020-21 में भारत के विदेशी मुद्रा भंडार 9.2 बिलियन डॉलर की बढ़ोतरी दर्ज की गई और भारत का विदेशी मुद्रा भंडार अभी 487 बिलियन डॉलर का है, -15,000 करोड़ रुपये का क्रेडिट लाइन एग्जिम बैंक को दिया जाएगा और सिडबी दी गई रकम का इस्तेमाल और 90 दिन कर सकता है।

आरबीआई ने पूर्ण संकट को देखते हुए एक्सपोर्ट क्रेडिट पीरियड 12 महीने से बढ़ाकर 15 महीने कर दिया गया है। यानी एक्सपोर्टर को कर्ज चुकाने के लिए 3 महीने ज्यादा मिलेंगे।

जो बैंक एक्सपोर्ट इंपोर्ट से जुड़े कारोबारियों को लोन देता है कोरोना की वजह से एग्जिम बैंक को फंड जुटाने में दिक्कत हो रही है, इसलिए एग्जिम बैंक को 90 दिन के लिए 15000 करोड़ का क्रेडिट दिया जाएगा। इसे 1 साल तक बढ़ाया जा सकता है।

कॉरपोरेट ग्रुप को उनकी नेटवर्क के आधार पर बैंकों से कर्ज मिलता है इस लिमिट को 25 से बढ़ाकर 30% कर दिया गया है।

Check Also

भिवानी में विधायक का पीए कोरोना पॉजिटिव, विधायक का परिवार होम क्वारन्टीन

Chaupal TV, Bhiwani भिवानी के भाजपा विधायक घनश्याम सर्राफ का निजी सहायक (पीए) कोरोना पॉजिट…