हरियाणा में कांग्रेस को मिला नया यूथ प्रदेश अध्यक्ष, दिव्यांशु बुद्धिराजा को सौंपी जिम्मेदारी
 

हरियाणा कांग्रेस को लंबे समय की जदोजहद के बाद नया युवा प्रदेश अध्यक्ष मिल गया है। आज दिव्याशु बुद्धिराजा के नाम पर मुहर लग गई है। कांग्रेस की तरफ से युथ कांग्रेस के अलग अलग पदों पर पदाधिकारी नियुक्त करने के लिए इंटरनल वोटिंग करवाई गई थी जिसमें दिव्याशु बुद्धिराजा को करीब दो लाख ज्यादा वोट मिले थे।

अब पिछले कुछ दिनों से अलग अलग प्रकार की चर्चाओं के बीच चुनाव के लटकने के आसार हो रहे थे लेकिन अब कांग्रेस की तरफ से यूथ कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर मुहर लग गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नजदीकी दिव्यांशु बुद्धिराजा को युवक कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में दिव्यांशु को सर्वाधिक 4,90,755 मत मिले थे। दूसरे नंबर पर रहे प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा और राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला समर्थक कृष्ण सातरोड को 2,90,099 और तीसरे नंबर पर मयंक चौधरी को 40,862 मत मिले थे। कृष्ण सातरोड और मयंक चौधरी को उपाध्यक्ष बनाया गया है।

वर्ष 2014-15 में दिव्यांशु बुद्धिराजा ने पंजाब यूनिवर्सिटी में एनएसयूआई की तरफ से अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा और अध्यक्ष बने। जहां उन्होंने विद्यार्थियों को उनके हक और सुविधाएं दिलवाई और अब तक की सबसे लंबी भूख हड़ताल पर बैठकर विवि के घोटाले उजागर किए है। इसके बाद 2017 में एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश के अध्यक्ष सबसे ज्यादा मत हासिल करके निर्वाचित हुए।

पंजाबी समुदाय से तालुक रखने वाले दिव्यांशु बुद्धिराजा कांग्रेस के हुड्डा खेमे में नान जाट चेहरा है। भाजपा सरकार में दिव्यांशु पर आधा दर्जन मामले विभिन्न जगह दर्ज किए हैं। वे लगातार छात्र हितों की लड़ाई लड़ते आए हैं।

 

state youth president