Sunil Jakahr: सुनील जाखड़ ने कांग्रेस पर बोला हमला, फ़ेसबुक पर लाइव आकर कांग्रेस के लिए कही ये बात, जानें पूरी खबर
 

चंडीगढ़, जेएनएन। Sunil Jakhar: पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष सुनील जाखड़ ने आज अपने मन की बात रखी।  उन्‍होंने कांग्रेस पर हमला किया। उन्‍होंने कांग्रेस में जातिगत समीकरण को की जा रही राजनीति पर सवाल उठाए। उन्‍होंने कांग्रेस की अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी नेतृत्‍व पर निशाना साधा। उन्‍होंने अंबिका सोनी का नाम लेते हुए सोनिया गांधी से उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।  उन्‍होंंने कहा कि कांग्रेस की बुरी हालत है और यह खटिया पर है।  उन्‍होंने कांग्रेस को गुड बाय भी कह दिया। 

जाखड़ ने (https://fb.watch/c-5Wm7TW3L/) फेसबुक पर लाइव होकर अपना दर्द बयां किया और कांग्रेस नेतृत्‍व को कटघरे में खड़ा किया। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस नेतृत्‍व आज चापलूसों से घिरा हुआ है। उन्‍हाेंने कहा कि अंबिका सोनी द्वारा कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के इस्‍तीफा देने के बाद दिए बयान को लेकर हमला किया। अंबिका सोनी ने यह कह कर कि पंजाब  का अपमान किया कि राज्‍य में कोई हिंदू नेता को सीएम बनाने पर पंजाब में आग लग जाएगी।  

उन्‍होंंने पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रभारी हरीश रावत पर भी हमला किया और पार्टी में विवाद के दौरान उनकी भूमिका पर भी सवाल उठाए। उन्‍होंने कहा कि खुद को कांग्रेस अनुशासन कमेटी द्वारा मुझे नोटिस देना बहुत ही चोट पहुंचाने वाला है। कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने अनुशासन कमेटी की रिपोर्ट पर मुझे पार्टी के सभी पदोंं से हटाने का पत्र जारी किया। यह सिवाय मजाक सिवा कुछ नहीं है। सोनिया बताएं कि मैं किस पद पर था जो मुझे हटाया गया। हकीकत यह है कि मैं पार्टी में किसी पद पर था ही नहीं। 

जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस को बचाने की जरूरत है। चिंतन शिविर की जगह चिंता शिविर का आयोजन होना चाहिए था। आज कांग्रेस को बचाने के लिए कदम की जरूरत है। वर्तमान में देश के अधिकतर राज्‍योंं में कांंग्रेस की हालत गंभीर है। इसके लिए कमेटी बनाकर चर्चा की जानी चाहिए थी। पंजाब चुनाव के साथ-साथ उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश चुनाव का भी उदाहरण दिया।

उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश पर कमेटी बनाते जहां विधानसभा चुनाव में करीब 290 सीटों पर कांग्रेस उम्‍मीदवारों को दो हजार से भी कम वोट मिले। इतने वोट तो पंचायत चुनाव में मिल जाते हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस में अंबिका सोनी जैसी नेताओं की मंडली काम कर रही है। इनसे सोनिया गांधी को मुक्ति पानी होगी। अंत में उन्‍होंने कांग्रेस को गुड लक के साथ गुडबाय भी कह दिया।