अंबाला में कोहरे के कारण लेट हो रही ट्रेनें, 3 घंटे से ज्यादा लेट होने पर मिलेगा रिफंड

 
अंबाला में कोहरे के कारण लेट हो रही ट्रेनें, 3 घंटे से ज्यादा लेट होने पर मिलेगा रिफंड

उत्तर भारत के कई राज्यों में कोहरे के कारण ट्रेनें देरी से चल रही हैं. लगातार बढ़ते कोहरे के कारण ट्रेनें आधे से तीन घंटे तक की देरी से चल रही हैं. ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि रेल प्रशासन की ओर से यात्रियों की सुविधा के लिए पुख्ता इंतजाम किये गये हैं.

रेलवे प्लेटफॉर्म को लगातार साफ-सुथरा रखा जा रहा है ताकि वेटिंग रूम में जगह न होने पर यात्री अपना सामान छोड़कर प्लेटफॉर्म पर बैठ सकें. रेलवे प्रशासन ने सभी वेंडरों से कहा है कि यात्रियों को चाय, दूध और खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. वहीं रेलवे प्रशासन की ओर से यात्रियों की सुविधा के लिए फुल रिफंड का भी प्रावधान किया गया है.

अगर ट्रेन तीन घंटे से ज्यादा लेट होती है तो यात्री पूरा रिफंड ले सकते हैं, जो अलग-अलग माध्यमों से मिलता है। इसके लिए रेलवे प्रशासन ने अलग से काउंटर बनाने की भी बात कही है ताकि यात्रियों को कोई परेशानी न हो. इसके साथ ही ट्रेन की नियमित जानकारी के लिए अनाउंसमेंट भी किया जा रहा है. रेलवे प्रशासन का प्रयास है कि कोई भी ट्रेन रद्द न हो.

रेलवे प्रशासन ने यात्रियों के लिए व्यवस्था की

जब से कोहरा बढ़ने लगा है, ट्रेनों के लेट होने की संख्या भी बढ़ने लगी है. अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन से ट्रेनें 30 मिनट से लेकर 9 घंटे तक लेट हो रही हैं। आंकड़ों की बात करें तो पांच से छह दर्जन ट्रेनें देरी से चल रही हैं. अगर कोहरा और बढ़ा तो ट्रेनों की लेटलतीफी की संख्या और बढ़ सकती है. हालांकि रेल प्रशासन की ओर से यात्रियों की सुविधा के लिए हर उपाय किये जा रहे हैं. रेलवे प्लेटफॉर्म की साफ-सफाई हो या कैंटीन में खाने-पीने की व्यवस्था, यात्रियों को किसी तरह की असुविधा न हो इसके लिए लगातार अनाउंसमेंट किया जा रहा है.

अंबाला रेलवे डिवीजन के डीआरएम मनदीप सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर कोहरे या किसी अन्य कारण से ट्रेन तीन घंटे से ज्यादा लेट होती है तो यात्री पूरा रिफंड ले सकते हैं. उन्होंने कहा कि रिफंड विभिन्न माध्यमों से किया जा सकता है. आप इसे ऑनलाइन माध्यम से 139 पर एसएमएस भेजकर या स्टेशन काउंटर पर जाकर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुविधा के लिए सबसे जरूरी है अनाउंसमेंट जो लगातार किया जा रहा है ताकि यात्रियों को पता चल सके कि उनकी ट्रेन कितनी लेट है. उन्होंने कहा, हमारा प्रयास यह सुनिश्चित करना है कि कोई भी ट्रेन रद्द न हो.