राजस्थान पुलिस के इस ऑफिसर ने बदमाशों और सामाजिक तत्वों के खिलाफ उठाए सख्त कदम

 
राजस्थान पुलिस के इस ऑफिसर ने बदमाशों और सामाजिक तत्वों के खिलाफ उठाए सख्त कदम

राजस्थान पुलिस ने डीजीपी उमेश मिश्रा के आदेश के तहत बुधवार, 27 दिसंबर से प्रदेश भर में अपराधियों और असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की शुरुआत की है। यह कार्रवाई तीन दिनों तक चलेगी और यह पुलिस का पहला बड़ा एक्शन है जिसे नई सरकार के गठन के बाद लागू किया गया है।

इस अभियान में, बदमाशों और असामाजिक तत्वों के खिलाफ पुलिस द्वारा आर्म्स एक्ट, आबकारी और एनडीपीएस एक्ट, हिस्ट्रीशीटर, हार्डकोर, स्थायी वारंटी, इनामी और जघन्य अपराधों में वांछित असामाजिक तत्वों के ठिकानों पर दबिश देकर तलाशी ली जा रही है। इसके साथ ही, अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किया जा रहा है और असामाजिक तत्वों को पाबंद करके सख्त हिदायत दी जा रही है।

इस विशेष अभियान में एसपी और डीसीपी खुद फील्ड में उतरे हैं, जबकि अभियान की मॉनिटरिंग रेंज आईजी कर रहे हैं। इसके अलावा, पूरे मामले की रिपोर्ट खुद एडीजी क्राइम दिनेश एमएन ले रहे हैं।

अभियान के दौरान गैंगस्टर्स को फॉलो करने वालों और सोशल मीडिया पर गैंगस्टर के समर्थन में कमेंट करने वालों पर भी कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने गैंगस्टर को फॉलो करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके कार्रवाई करने की घोषणा की है।

इस अभियान की मॉनिटरिंग के लिए प्रदेश की सभी रेंज मुख्यालयों में अभय कमांड सेंटर खुले हैं और उच्च अधिकारी इस प्रक्रिया पर नजर बनाए हुए हैं।

सीएम के निर्देश के बाद पुलिस ने इस अभियान को शुरू किया है जिसमें बदमाशों और असामाजिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है।