हरियाणा से दिल्ली-NCR शहरों तक का सफर आसान बनाएगा ये एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे, नए साल पर मिलेगा तोहफा

 
हरियाणा से दिल्ली-NCR शहरों तक का सफर आसान बनाएगा ये एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे, नए साल पर मिलेगा तोहफा

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और हरियाणा-एनसीआर क्षेत्र में निर्बाध यातायात प्रवाह सुनिश्चित करने के लिए देश के पहले एलिवेटेड शहरी एक्सप्रेसवे यानी द्वारका एक्सप्रेसवे का उद्घाटन होने जा रहा है। इसका निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है और माना जा रहा है कि जनवरी 2024 में इस पर वाहनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) इस एक्सप्रेसवे पर वाहनों के संचालन की अनुमति देने से पहले सुरक्षा ऑडिट रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है। रिपोर्ट मिलने के बाद जनवरी माह में किसी समय इसे आम जनता को सौंप दिया जाएगा।

लंबाई 29 किलोमीटर है
आपको बता दें कि देश का पहला एलिवेटेड अर्बन एक्सप्रेसवे यानी गुरुग्राम-द्वारका एक्सप्रेसवे कुल 29 किमी लंबा है, जिसमें से 18.9 किमी हरियाणा की सीमा और बाकी हिस्सा दिल्ली की सीमा में पड़ता है. इस एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य पर 9 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च हुए हैं. वाहनों का परिचालन शुरू करने के लिए गुरुग्राम के उपायुक्त निशांत कुमार यादव और एनएचएआई के अधिकारियों ने इस एक्सप्रेसवे का दौरा किया है।

एक्सप्रेसवे की खूबियां बेहद खास हैं
इस एलिवेटेड शहरी एक्सप्रेसवे के निर्माण में 20 लाख मीट्रिक टन स्टील का उपयोग किया गया है, जो एफिल टॉवर के निर्माण से 30 गुना अधिक है।
इसी तरह 20 लाख घन मीटर कंक्रीट का इस्तेमाल किया गया है जो बुर्ज खलीफा से 6 गुना ज्यादा है।
इसके अलावा निर्माण कार्य के दौरान 12 हजार पेड़ों का भी प्रत्यारोपण किया गया है, जो भारत में इतने बड़े पैमाने पर पहली बार हुआ है।

दिल्ली से गुरुग्राम 25 मिनट में
यह एक्सप्रेसवे NH-8 पर दिल्ली के महिपालपुर में शिवमूर्ति चौक से शुरू होता है और गुरुग्राम में खेड़की दौला टोल प्लाजा पर समाप्त होता है। द्वारका एक्सप्रेस-वे खुलने के बाद दिल्ली से गुरुग्राम की दूरी महज 25 मिनट में तय हो जाएगी. वहीं, द्वारका से मानेसर तक की दूरी 15 मिनट में, मानेसर से आईजीआई एयरपोर्ट तक 20 मिनट में, द्वारका से सिंधु बॉर्डर तक 25 मिनट में और मानेसर से सिंघु बॉर्डर तक की दूरी 45 मिनट में तय की जाएगी. इस एक्सप्रेसवे के बनने से न सिर्फ लोगों को ट्रैफिक जाम की परेशानी से छुटकारा मिलेगा बल्कि वे कम समय में सफर भी कर सकेंगे.