अन्य समाचार

अजब गजब: इस जगह मानते हैं अजीबोगरीब रिवाज, मां के सामने बेटी और दामाद मानते हैं सुहागरात, जानें

Diksha Gupta
22 Sep 2022 9:44 AM GMT
अजब गजब: इस जगह मानते हैं अजीबोगरीब रिवाज, मां के सामने बेटी और दामाद मानते हैं सुहागरात, जानें
x
शादी पर सुहागरात के दिन यह अजीबोगरीब रस्म इस देश में निभाई जाती है जान इसके बारे में...

Ajab gajab: शादी का दिन किसी की भी जिंदगी का सबसे जरूरी दिन होता है, सभी के इस दिन को लेकर अलग अलग सपने और इच्छाएं होती हैं. शादी में निभाई जाने वाली रस्में भी काफी वहीं, आज हम आपाको एक ऐसी रस्म के बारे में बताने जा रहे है जिसे सुन आप भी दांतों तले उंगलियां चबा लेंगे। यहां शादी के बाद सुहागरात पर कुछ ऐसा किया जाता हो जो बहुत अजीब है।


सुहागरात सभी की जिंदगी को कभी ना भुलाया जा सकने वाला पल होता है, इसी लेकर सभी की अपनी अलग अलग के आधे होती हैं। मगर ये फिल्मों और टीवी सीरियलों में सुहागरात को जितना रोमेंटिक और सबसे अलग दिखाया जाता है उतना नही होता. इस रात अधिकतर कपल इस रात को एक दूसरे को समझने में बिताते हैं और ढेर सारी बातें करते हैं. अलग-अलग बातें करते हैं उन्हें पूरा करने की कसमें खाते हैं। मगर इस दिन को लेकर कुछ परंपराएं भी होते हैं ऐसी ही एक अनोखी परंपरा अफ्रीका के कुछ प्रंतों की जहां सुहागरात पर लड़की की मां उसके साथ रहकर सब देखती है।




सुहागरात पर मां सोती है साथ

आपको बता दें कि यहां सालों से इस पंरपरा की पालना की जा रही है जिसे यूं ही निभाया भी जाता है. यहां सुहागरात की मान्यता के अनुसार, शादी हो जाने के बाद जब पति-पत्नी पहली बार एक साथ रात गुजारते हैं, तो उस दिन वह दोनों अकेले नहीं होते बल्कि दुल्हन की मां भी उनका साथ देती है और वह उनके साथ ही कमरे में सोती है. वहीं, मां के ना होने पर घर में कोई बुजुर्ग महिला उनके साथ सोती है. ऐसा कहा जाता है बुजुर्ग महिला उस रात नए जोड़े को खुशहाल वैवाहिक जीवन के बारे में बताती है, और दुल्हन को समझाती है कि उसे कैसे ये रात गुजारनी है।


सुबह मां बताती है आखों देखना हाल

यह रस्म यहीं खत्म नहीं होती बल्कि इसके अगले दिन सुबह, दूल्हा-दुल्हन के कमरे में मौजूद मां या बुजुर्ग महिला परिवार के अन्य सदस्यों को इस बात की तस्दीक करते हुए बताती है कि रात में सबकुछ ठीक से हुआ। इससे आगे आने वाला जीवन खुशहाल हो जाता है। यह केवल रस्म है जिसे शर्म नहीं बल्कि जज्बातों से जोड़कर देखा जाता है और आज भी से यूं ही निभाया जा रहा है।

Next Story