श्री राम आए अयोध्या तो श्री हनुमान जी चले अमेरिका, जाने पूरी खबर क्या है पूरा मामला

 अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के साथ ही दुनिया भर के हिंदू राममय हो गए हैं
 
 श्री राम आए अयोध्या तो श्री हनुमान जी चले अमेरिका,  जाने पूरी खबर क्या है पूरा मामला
 


अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के साथ ही दुनिया भर के हिंदू राममय हो गए हैं. राम मंदिर उत्सव के मौके पर अमेरिका के न्यू जर्सी में हनुमान की 25 फीट ऊंची मूर्ति चर्चा में है.

इस प्रतिमा को न्यू जर्सी के मोनरो में ओम श्री साईं बालाजी मंदिर और संस्कृति केंद्र में लाया गया है। यह संयोग ही है कि हनुमान की यह 25 फीट की मूर्ति उस समय लाई गई है जब अयोध्या में राम मंदिर का अभिषेक किया जा रहा है।

ओम श्री साईं बालाजी मंदिर एवं संस्कृति केंद्र के अध्यक्ष सूर्यनारायण मददुला ने कहा कि मुनरो के इतिहास में आज का दिन बेहद यादगार है. यह 25 फीट ऊंची प्रतिमा है. राम जी अयोध्या आए हैं तो हनुमान जी भारत से यहां आए हैं. इस साल के अंत तक हनुमान मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा और स्थापित कर दिया जाएगा.

हनुमान की मूर्ति 15 टन की है.

हनुमान की इस प्रतिमा का वजन 15 टन है और यह अमेरिका की सबसे बड़ी इनडोर प्रतिमा है। यह हमारे लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं है कि अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के समय यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। हनुमान भगवान राम के भक्त थे।

मंदिर ट्रस्ट के एक सदस्य ने कहा कि यह हमारे लिए मील का पत्थर है. हनुमान भगवान राम के सबसे बड़े भक्त हैं और रामलला के अभिषेक से पहले उनके भक्त अमेरिका की धरती पर पहुंच गए हैं. यह हमारे लिए बहुत खुशी की बात है.'

अमेरिका राममय हो गया

इससे पहले, अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की लाइव स्ट्रीमिंग देखने के लिए भारतीय समुदाय के हजारों नागरिक न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर पर एकत्र हुए। इस दौरान टाइम्स स्क्वायर श्रीराम और राम मंदिर की 3डी तस्वीरों से भर गया। यहां लोगों को पारंपरिक पोशाक में भजन गाते और नृत्य करते देखा जा सकता है।

वहीं, वाशिंगटन डीसी के वर्जीनिया के फेयरफैक्स काउंटी में एसवी लोटस टेम्पल में भी एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान सिख, मुस्लिम और पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी नागरिकों समेत 2500 से ज्यादा लोगों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

इस मौके पर लॉस एंजिलिस में एक कार रैली का आयोजन किया गया. करीब 250 काफिलों की इस रैली में 1000 लोगों ने हिस्सा लिया. अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन के तुरंत बाद, विश्व हिंदू परिषद ऑफ अमेरिका (वीएचपीए) और विश्व हिंदू परिषद ऑफ कनाडा अमेरिका और कनाडा में 1000 से अधिक मंदिरों की पदयात्रा शुरू करेंगे। यह पदयात्रा 25 मार्च को मैसाचुसेट्स के ओम हिंदू सेंटर से शुरू होगी। इस दौरान श्री राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान की मूर्तियों को एक सुसज्जित वैन में ले जाया जाएगा। यह मार्च 45 दिनों तक चलेगा।