दिल्ली-जयपुर हाईवे पर MCD टोल प्लाजा के पास बनेगा रैपिड रेल कास्टिंग यार्ड, जानें पूरा प्लान

 
दिल्ली-जयपुर हाईवे पर MCD टोल प्लाजा के पास बनेगा रैपिड रेल कास्टिंग यार्ड, जानें पूरा प्लान

एनसीआरटीसी के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर केके गुप्ता के इस पत्र के मुताबिक, एमसीडी टोल के पास पर्यटन विभाग, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर और एचएसवीपी की 88130 वर्ग मीटर जमीन है। इसमें से एचएसवीपी के पास 18092 वर्ग मीटर जमीन है।

दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे (NH48) पर MCD टोल के पास रैपिड रेल कास्टिंग यार्ड बनाया जाएगा. इसे लेकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम लिमिटेड (एनसीआरटीसी) ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को पत्र लिखकर जमीन उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है।

यह जमीन उपलब्ध कराने के लिए एसएसवीपी प्रशासक बलप्रीत सिंह को पत्र लिखा गया है। प्रशासक ने गांव डूंडाहेड़ा राजस्व संपदा की इस जमीन को लेकर एचएसवीपी संपदा अधिकारी विकास ढांडा को निर्देश जारी किए हैं। पत्र में कहा गया है कि हरियाणा सरकार की एचएमआरटीसी विंग ने 22 फरवरी 2019 को रैपिड रेल की डीपीआर को मंजूरी दे दी थी।

5 वर्षों के लिए भूमि की आवश्यकता
6 जनवरी 2020 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी. इसमें मुख्यमंत्री ने रैपिड रेल के निर्माण के लिए मुफ्त जमीन उपलब्ध कराने की बात कही थी. पत्र में कहा गया है कि दिल्ली-गुरुग्राम सीमा पर गांव डूंडाहेड़ा में कास्टिंग यार्ड के निर्माण के लिए 5 साल के लिए जमीन की आवश्यकता है.

एनएच 48 पर एमसीडी टोल के पास जमीन की आवश्यकता
एनसीआरटीसी के एक अधिकारी ने बताया कि रैपिड रेल का रूट पहले दिल्ली के कापसहेड़ा से अतुल कटारिया चौक, पुरानी दिल्ली रोड पर महाराणा प्रताप चौक होते हुए सिग्नेचर टावर तक था। अब रूट बदल दिया गया है. रैपिड रेल को दिल्ली से नेशनल हाईवे 48 के किनारे चलाया जाएगा. पहले पुरानी दिल्ली रोड पर कास्टिंग यार्ड बनाने की योजना थी, लेकिन अब इस रूट पर रैपिड रेल नहीं चलेगी. ऐसे में एनएच 48 पर एमसीडी टोल के पास जमीन की जरूरत है.