Railway station: ये रेलवे स्टेशन है अंग्रेजों के जमाने का रेलवे स्टेशन, जहां पर करते हैं हजारों यात्री यात्रा

 
ये रेलवे स्टेशन है अंग्रेजों के जमाने का रेलवे स्टेशन, जहां पर करते हैं हजारों यात्री यात्रा

Railway station: भारत में ट्रेनों की शुरुआत 16 अप्रैल 1853 को हुई थी। देश की पहली ट्रेन मुंबई के बोरीबंदर से ठाणे तक चलाई गई थी। इस मार्ग की लंबाई 34 किलोमीटर थी। इस प्रकार भारत में रेलगाड़ियाँ चलते हुए लगभग 170 वर्ष हो गये हैं। भारतीय रेलवे का इतिहास कई रोचक जानकारियां समेटे हुए है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि 166 साल पहले बना एक रेलवे स्टेशन आज भी पूरी तरह चालू हालत में है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई का रोयापुरम रेलवे स्टेशन भारतीय रेलवे का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन है। इसका निर्माण 1856 में किया गया था। यह रेलवे स्टेशन भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन है जो आज भी चालू है।

रोयापुरम रेलवे स्टेशन को 28 जून, 1856 को तत्कालीन गवर्नर लॉर्ड हैरिस द्वारा मुख्य टर्मिनस के रूप में खोला गया था। कुछ दिनों बाद 1 जुलाई, 1856 को दक्षिण भारत में पहली रेलवे लाइन यातायात के लिए खोल दी गई। वर्ष 1849 में मद्रास रेलवे कंपनी के पुनर्गठन के बाद दक्षिण भारत में एक नई रेलवे लाइन बिछाने की योजना बनाई गई।

   रोयापुरम में एक नया स्टेशन बनाने का निर्णय इसलिए लिया गया क्योंकि यह फोर्ट सेंट जॉर्ज के पास ब्रिटिश व्यापारियों की बस्ती के करीब था। दक्षिणी लाइन पर काम 1853 में शुरू हुआ।

पहली ट्रेन 1 जुलाई 1856 को चली थी
पहली ट्रेन 1 जुलाई, 1856 को रोयापुरम रेलवे स्टेशन से चली थी। पहली यात्री ट्रेन रोयापुरम से वलजाह तक चली थी। ट्रेन ने दोनों स्टेशनों के बीच 97 किलोमीटर की दूरी तय की।

गवर्नर लॉर्ड हैरिस और 300 यूरोपीय लोगों ने सिम्पसन एंड कंपनी द्वारा निर्मित पहली ट्रेन में यात्रा की। उसी दिन, रोयापुरम से तिरुवल्लुर तक एक और ट्रेन चलाई गई।

यह मद्रास रेलवे का मुख्यालय भी था।
रोयापुरम रेलवे स्टेशन 1922 तक मद्रास और दक्षिणी महरत्ता रेलवे के मुख्यालय के रूप में भी कार्य करता था। इस रेलवे स्टेशन को वास्तुकार विलियम एडेल्फी ट्रेसी द्वारा डिजाइन किया गया था।

   वर्ष 2005 में भारतीय रेलवे ने रेलवे स्टेशन भवन की मरम्मत की। मरम्मत कार्य के दौरान इसके मूल स्वरूप से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई। अब भी रॉयपुरम रेलवे स्टेशन पर हर महीने 10 हजार से ज्यादा यात्री ट्रेन में सवार होते हैं.