Online Payment: आज से बदल गए UPI के ये नियम, जानिए आपकी जेब पर क्या पड़ेगा असर?

 
आज से बदल गए UPI के ये नियम, जानिए आपकी जेब पर क्या पड़ेगा असर?

Online Payment:  देश में यूपीआई की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। जहां आज से नया साल यानी 2024 शुरू हो गया है, वहीं यूपीआई के एक नियम में बदलाव हुआ है। इस नियम का असर कई UPI धारकों पर पड़ेगा. आइए इस लेख में जानते हैं कि UPI से जुड़े कौन से नियम बदल गए हैं?

बिजनेस डेस्क, नई दिल्ली। देश में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के जरिए ऑनलाइन पेमेंट की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। UPI को साल 2016 में लॉन्च किया गया था। UPI की शुरुआत के बाद ऑनलाइन पेमेंट की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने UPI के विस्तार के लिए कई घोषणाएं की हैं। आज यानी 1 जनवरी 2024 से यूपीआई में कई बदलाव किए गए हैं। आरबीआई ने इन बदलावों की जानकारी पिछले महीने दिसंबर में दी थी।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने Google Pay, Paytm, PhonePe आदि जैसे भुगतान ऐप्स और उन खातों को निष्क्रिय करने के लिए कहा है जो एक वर्ष से अधिक समय से उपयोग में नहीं हैं। इसका मतलब यह है कि अगर आप एक साल या उससे अधिक समय से UPI ऐप्स का उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो आपका खाता निष्क्रिय भी हो सकता है।

एनपीसी के मुताबिक, अब यूपीआई के जरिए दैनिक भुगतान की सीमा बढ़ा दी गई है। अब धारक एक दिन में 1 लाख रुपये तक का भुगतान कर सकते हैं। इसके अलावा 8 दिसंबर 2023 को RBI ने अस्पतालों और शैक्षणिक संस्थानों के लिए UPI भुगतान सीमा बढ़ा दी है, अब इसकी भुगतान सीमा 5 लाख रुपये है।

अब, यदि कोई धारक यूपीआई भुगतान करते समय प्रीपेड भुगतान उपकरण (पीपीआई) का उपयोग करता है, तो उसे 2,000 रुपये से अधिक के भुगतान पर 1.1 प्रतिशत का इंटरचेंज शुल्क देना होगा। इसके अलावा यूपीआई के जरिए होने वाले फ्रॉड को रोकने के लिए अब अगर कोई धारक किसी नए यूजर को 2,000 रुपये से ज्यादा का भुगतान करता है तो उसके लिए 4 घंटे की समय सीमा होगी. ऐसे में वह आसानी से 4 घंटे के अंदर इसकी शिकायत कर सकता है.

देश में यूपीआई का विस्तार करने के लिए आरबीआई ने जापानी कंपनी हिताची के साथ साझेदारी की है। इस पार्टनरशिप के मुताबिक जल्द ही भारत में UPI एटीएम लॉन्च किया जाएगा. इस एटीएम के जरिए बैंक से कैश निकालने की प्रक्रिया बेहद आसान हो जाएगी. कैश निकालने के लिए QR स्कैन करना होगा.