Jaya Kishori Love Tips : जया किशोरी ने युवाओं को दी प्रेम की सीख, बताया प्यार का मतलब

 
 Jaya Kishori Love Tips : जया किशोरी ने युवाओं को दी प्रेम की सीख, बताया प्यार का मतलब

Jaya Kishori Love Tips: मशहूर कथावाचक जया किशोरी (Jaya Kishori) ने युवाओं के लिए खास सलाह दी है. अधिकतर युवाओं को प्यार और अट्रैक्शन में अंतर नहीं पता है. जया किशोरी ने इसे अच्छे से समझा दिया है. जया किशोरी ने ये भी बताया कि प्यार क्यों होता है और कैसा होना चाहिए. जया किशोरी को लाखों लोग फॉलो करते हैं. प्रेम पर जया किशोरी ने क्या कहा आइए जानते हैं.

प्रेम का मतलब निस्वार्थ भाव

जया किशोरी ने कहा कि प्रेम का मतलब निस्वार्थ मतलब जो बिना किसी स्वार्थी कारण से होना चाहिए. प्यार का कोई कारण नहीं होना चाहिए कि मुझे आपसे प्यार क्यों है? क्योंकि अगर प्यार का कोई स्वार्थी कारण हुआ तो प्रेम तभी तक रहेगा जब तक आपका काम निकल नहीं जाता है.

Jaya Kishori Wiki, Age, Husband, Family, Biography & More - WikiBio

प्यार से बात करना जरूरी

जया किशोरी ने ये भी बताया कि कुछ लोग अपनों से प्यार से नहीं बोलते हैं. उनके सामने कुछ भी बिना सोच बोल देते हैं. इस बात की चिंता नहीं करते हैं कि सामने वाले को बुरा लग सकता है. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए क्योंकि मुश्किल समय पर अपने ही आपके काम आएंगे.

कान्हा को छोड़ा जा सकता है कथा को नहीं

प्रेम पर जया किशोरी ने ये भी कहा कि सच्चा प्रेम वही है कि प्रेमी को छोड़ सकते हैं लेकिन उसकी बातों को नहीं छोड़ सकते. जैसा कि गोकुल से भगवान श्रीकृष्ण के चले जाने पर गोपियों ने कहा था कि कान्हा को छोड़ा जा सकता है लेकिन उनकी कथा को नहीं छोड़ सकते हैं.

एक बार जरूर मिलता है धोखा

जया किशोरी ने ये भी कहा कि जिंदगी में हर रिश्ता एक ना एक बार जरूर धोखा देता है सिवाय भगवान के. जैसे आप सोच लें कि इस इंसान के बिना जिंदगी नहीं है, हम जी नहीं सकते और अचानक वो दुनिया से चला जाए तो वो हमारे साथ धोखा ही है. इसलिए हर रिश्ता एक बार धोखा जरूर देता है.

प्यार और अट्रैक्शन के बीच का अंतर

जया किशोरी ने प्यार और अट्रैक्शन के बीच का अंतर भी बताया. उन्होंने कहा कि अगर आप किसी को देखते हैं और वो अच्छा लगने लगता है तो वह अट्रैक्शन है क्योंकि अट्रैक्शन 1 महीने, 2 महीने और या कुछ सालों तक ही रहता है. आप किसी की खूबसूरती पर कितने दिन तक मोहित रहेंगे. अगर आपको किसी की आदतों से, उसके व्यवहार से और उसके इमोशन्स को हैंडल करने के ढंग से प्यार है तो ठीक है वरना सिर्फ अट्रैक्शन ही है.