100 से ज्यादा बार रिजेक्ट हुआ आइडिया, फिर भी नहीं मानी हार, खड़ी की 64 हजार करोड़ की कंपनी

 
 100 से ज्यादा बार रिजेक्ट हुआ आइडिया, फिर भी नहीं मानी हार, खड़ी की 64 हजार करोड़ की कंपनी

नई दिल्‍ली: सफलता का राज संघर्ष में छिपा होता है। इस कहावत को कहना तो बहुत आसान है, लेकिन इसे साबित करने के लिए जीवन बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ हर्ष जैन के साथ। उन्‍होंने एक आइडिया पर बिजनेस करने का सोचा, लेकिन शुरू करने के लिए आरंभ में फंड नहीं थे।

पैसे जुटाने के लिए हर्ष ने कई दरवाजों पर दस्तक दी। उन्‍होंने 10-20 नहीं बल्कि 150 वेंचर्स के पास जाकर अपना आइडिया साझा किया और निवेश के लिए गुहार लगाई। सभी ने उनके आइडिया को रिजेक्ट कर दिया।

हर्ष जैन की सफलता इसलिए भी बहुत मायने रखती है कि उन्‍होंने 150 बार रिजेक्‍ट होने के बावजूद हार नहीं मानी और न ही अपने आइडिया को बदला. आखिरकार उन्‍हें एक निवेशक मिला और हर्ष का आइडिया अब एक स्‍टार्टअप के रूप में लोगों के सामने था.

हर्ष का हौसला और भरोसा रंग लाया. आज उनकी कंपनी का मार्केट वैल्‍यू 64 हजार करोड़ रुपये से भी ज्‍यादा है.

ये था हर्ष का आइडिया

हर्ष ने बताया था कि साल 2012 में उन्‍होंने फैंटेसी गेम का आइडिया बनाया और इस पर एक ऐप बनवाने के लिए फंड जुटाने की कोशिश की. हर्ष ने कहा, हम अपना आइडिया लेकर एक-दो या 10-20 नहीं बल्कि 150 लोगों के पास गए, लेकिन सभी ने रिजेक्‍ट कर दिया.

आखिर उन्‍हें फंडिंग मिली और ड्रीम 11 (Dream11) नाम से उनका फैंटेसी गेमिंग ऐप आज बड़ी कंपनी में तब्‍दील हो चुका है. इस ऐप पर आज क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल सहित तमाम तरह के गेम खेले जाते हैं.

सफर

बात साल 2008 की है, जब पहली बार देश में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) हुआ. हर्ष को आइडिया आया और अपने पार्टनर भावित के साथ मिलकर ड्रीम11 प्रोजेक्‍ट तैयार किया. जब कहीं से भी उन्‍हें फंडिंग नहीं मिली तो दोनों दोस्‍तों ने मिलकर खुदसे पैसे लगाकर इसे शुरू किया.

साल 2014 में पहली बार ड्रीम11 शुरू हुआ और इसी साल यूजर की संख्‍या 10 लाख पहुंच गई. 2018 तक यूजर्स की संख्‍या बढ़कर 4.5 करोड़ हो गई, जो अभी करीब 20 करोड़ के आसपास है.

2019 में बन गई यूनिकॉर्न कंपनी

हर्ष की मेहनत ने रंग दिखाना शुरू किया और उनकी कंपनी साल 2019 में यूनिकॉर्न बन गई. इसका मतलब है कि उनकी कंपनी की मार्केट वैल्‍यू 1 अरब डॉलर यानी 8300 करोड़ रुपये को पार कर गई. इसके अगले साल 2020 में ड्रीम11 को आईपीएल की स्‍पांसरशिप मिल गई.

आज तो इस कंपनी के पास इंडियन क्रिकेट टीम की जर्सी को स्‍पांसर करने का भी अधिकार मिला हुआ है. हर्ष फिलहाल मुंबई के पेडार रोड पर 72 करोड़ के एक लग्‍जरी डुप्‍लेक्‍स में रहते हैं.