Hindi News: राम मंदिर के नाम पर हो रही ठगी, जानें किस तरह और आप कैसे बचें

 
राम मंदिर के नाम पर हो रही ठगी, जानें किस तरह और आप कैसे बचें 

Hindi News: अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण पूरा होने पर 22 जनवरी को पूरा देश जश्न मनाएगा। ऐसे में साइबर ठग क्यों पीछे रहें? उन्हें राम की भक्ति में डूबे लोगों को फंसाने और उनके बैंक खाते खाली करने का मौका मिल गया है.

देश के अलग-अलग इलाकों में ऐसे मामले सामने आए हैं, जिनमें साइबर ठगों ने राम के नाम पर फ्री रिचार्ज का लिंक भेजा। लोगों ने इस पर क्लिक किया और अपनी जमापूंजी गँवा दी। इसे देखते हुए फरीदाबाद पुलिस की ओर से एक एडवाइजरी जारी की गई है.

फ्री रिचार्ज के नाम पर ठगी!
पुलिस कमिश्नर राकेश कुमार आर्य के मुताबिक, राम मंदिर उद्घाटन के नाम पर फ्री रिचार्ज और प्रसाद की फ्री होम डिलीवरी के बहाने ठगी की जा सकती है.

ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें. साइबर ठग ऐसे मैसेज भेज रहे हैं. उस लिंक पर क्लिक करते ही आपको फ्री में रिचार्ज करने का लालच दिया जाएगा। ऐसे संदेशों पर विश्वास न करें.

ठगी का दूसरा तरीका प्रसाद की फ्री होम डिलीवरी के नाम पर लिंक भेजना है। आजकल कई वेबसाइटें राम मंदिर या किसी अन्य धार्मिक संस्थान के प्रसाद की मुफ्त होम डिलीवरी देने का दावा कर रही हैं।

इंटरनेट का उपयोग करते समय, किसी वेबसाइट पर प्रसाद की मुफ्त होम डिलीवरी से संबंधित एक संदेश दिखाई दे सकता है, जिसमें आपसे एक लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाएगा।

प्रसाद की निःशुल्क होम डिलीवरी का संदेश
उन्होंने बताया कि दिए गए लिंक पर क्लिक करने से आप मुसीबत में भी फंस सकते हैं. इससे धोखाधड़ी हो सकती है. इसलिए इंटरनेट पर प्रसाद की मुफ्त होम डिलीवरी के संदेश को नजरअंदाज करें।

क्योंकि कोई भी धार्मिक संस्था प्रसाद की मुफ्त होम डिलीवरी नहीं करती है। किसी भी तरह के मैसेज और फर्जी विज्ञापनों से सावधान रहें और खुद को सुरक्षित रखें।