किसानों को 4wd टैक्टर खरीद पर मिलेगी लाखों की सब्सिडी, जानिए कैसे करना होगा आवेदन

 
 किसानों को 4wd टैक्टर खरीद पर मिलेगी लाखों की सब्सिडी, जानिए कैसे करना होगा आवेदन

भारतीय किसानों को कृषि मशीनरी की खरीद पर सब्सिडी प्रदान करने की पहल के रूप में केंद्रीय सरकार द्वारा कृषि मशीनरीकरण पर उप-मिशन (एसएमएएम) योजना शुरू की गई है। इस मिशन के तहत किसानों को सब्सिडी राशि के साथ द मशीनरी दी जा रही है।

एसएमएएम योजना का उद्देश्य भारतीय किसानों को उनकी कृषि उत्पादकता को बढ़ाने के लिए उन्नत मशीनरी की पहुंच प्रदान करना है। इसके तहत फार्म मशीनरी बैंक, हाईटेक हब की स्थापना, कस्टम हायरिंग केंद्र, और विभिन्न कृषि मशीनरी आदि के वितरण के लिए धनराशि जारी की जा रही है।

केंद्र सरकार के इस पहले उप-मिशन के तहत किसानों को 40 से 50 प्रतिशत तक व्यक्तिगत सब्सिडी प्रदान की जा रही है और किसान समूहों, उद्यमियों, और किसानों को विशेष व्यक्तिगत सब्सिडी तक 80 प्रतिशत तक पहुंचा रहे हैं।

इस योजना के तहत अब तक 15,23,650 किसानों को कृषि उपकरणों और मशीनरी की प्राप्ति का लाभ मिला है। इसमें ट्रैक्टर, पावर टिलर, कंबाइन हार्वेस्टर, स्व-चालित मशीनरी, ट्रैक्टर चलित / स्वचालित उपकरण, कृषि ड्रोन और पौध संरक्षण कृषि उपकरण शामिल हैं।

कृषि मशीनरीकरण पर उप-मिशन (एसएमएएम) के तहत 4WD ट्रैक्टर पर भी सब्सिडी प्रदान की जा रही है। विस्तृत जानकारी के लिए आधिकारिक वेबसाइट https://farmech.gov.in/New_Folder/Consolidated_permissible_subsidy.pdf पर जा सकती है।*

सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मैकेनाइजेशन योजना (एस. एम. ए. एम ) का मुख्य उद्देश्य लघु और सीमांत किसानों के लिए कृषि मशीनरी की पहुंच बढ़ाना है। इसके तहत पूर्वोत्तर क्षेत्र (NER) राज्यों के अलावा अन्य राज्यों के लिए भी सब्सिडी प्रदान की जा रही है।

इस योजना के तहत व्यक्तिगत किसानों को अपने राज्य के कृषि विभागीय पोर्टल पर पंजीकृत होना और कस्टम हायरिंग सेंटर और फार्म मशीनरी बैंक के लिए किसान उत्पादक संगठन (FPO) का एफपीओ सोसायटी एक्ट/कंपनी में पंजीकृत होना आवश्यक है।

यह योजना कृषि मशीनरीकरण की तरफ इशारा है जो किसानों को उनकी खेती को और बेहतर बनाने में सहायता प्रदान करेगा।