अन्य समाचार

कभी सोचा है क्या JCB मशीन का रंग पीला ही क्यों होता है? जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह

Vikash Kumar
22 Jun 2022 10:54 AM GMT
कभी सोचा है क्या JCB मशीन का रंग पीला ही क्यों होता है? जानिए इसके पीछे की बड़ी वजह
x
आपने भी कंट्रक्शन साइट्स पर पीले रंग की इस मशीन से खुदाई या तोड़फोड़ होते हुए देखा होगा. इस मशीन पर बड़े-बड़े अक्षरों में JCB लिखा होता है और आमतौर पर इसे लोग JCB मशीन कहते हैं, लेकिन यह गलत है.

Why JCB Machines Are Yellow In Colour: क्या आपको याद है, ट्विटर पर एक बार JCB Ki Khudai कैसे ट्रेंड करने लगा था! गांव हो या शहर, यह मशीन लोगों का ध्यान अपनी आेर खींच ही लेती है. आपने भी कंट्रक्शन साइट्स पर पीले रंग की इस मशीन से खुदाई या तोड़फोड़ जैसे काम होते हुए देखा होगा. इस मशीन की खास बात यह होती है कि इसे दोनों तरफ से ऑपरेट किया जा सकता है. कहीं गड्ढा करने के लिए तो कहीं कुछ तोड़ने के लिए.

JCB नहीं, तो सही नाम क्या है इस मशीन का?

इस मशीन पर बड़े-बड़े अक्षरों में JCB लिखा होता है और आमतौर पर इसे लोग JCB मशीन कहते हैं, लेकिन यह गलत है. क्योंकि इसे जो जेसीबी कहा जाता है, वह तो एक कंपनी का नाम है. जैसे- जैसे- टाटा, मारुति, ह्युंडई, बीएमडब्ल्यू या कोई और. लेकिन सवाल ये है कि अगर JCB इसकी कंपनी का नाम है तो इस मशीनी वाहन का नाम क्या है? गड्ढा करने, तोड़-फोड़ करने और जमीन समतल करने के काम में आनेवाली इस मशीनी वाहन का नाम है बैकहो लोडर (Backhoe Loader).

JCB Backhoe Loader कैसे काम करता है?

बैकहो लोडर मशीन आगे और पीछे, दोनों तरफ से काम करती है और इसे चलाने का तरीका भी अलग होता है. इसे स्टीयरिंग के बजाय लीवर्स के माध्यम से हैंडल किया जाता है. इसके केबिन में जहां ड्राइवर के बैठने की जगह होती है, वहां एक साइड के लिए स्टीयरिंग लगी होती है, जबकि दूसरी तरफ क्रेन की तरह लीवर लगे होते हैं. इस मशीन में एक तरफ लोडर लगा होता है, जो बड़ा वाला हिस्सा होता है. इससे कोई भी सामान उठाया जाता है, जिसे कहीं काफी मिट्टी पड़ी या कहीं मलबा जमा है, तो वहां लोडर का इस्तेमाल किया जाएगा.

एक एडवांस्ड ट्रैक्टर का ही रूप

बैकहो लोडर की दूसरी तरफ एक साइड बकेट लगा होता है. वहीं यह बैकहो से जुड़ा होता है और इसे भी लीवर से ऑपरेट किया जाता है. इसी बकेटनुमा चीज से गड्ढे खोदे जाते हैं या तोड़फोड़ की जाती है. जरूरत और काम के अनुसार, इसमें अलग-अलग तरह के अटैचमेंट्स भी लगाये जाते हैं. कुल मिलाकर कहें, तो यह मशीन एक एडवांस्ड ट्रैक्टर का ही रूप है. इसके प्रमुख तौर पर इन हिस्से होते हैं, जिसमें टैक्टर, बैकहो और लोडर शामिल है. मशीन के बीच में केबिन होता है और इसमें लगे पहियों के साथ ही स्टेब्लाइजर लेग्स भी होते हैं, जो भारी काम करने के दौरान मशीन को स्थायित्व देता है.

JCB का रंग पीला रंग ही क्यों होता है?

क्या आपने कभी यह सोचा है कि जेसीबी मशीन का रंग लाल, सफेद या कोई और क्यों नहीं होता? जेसीबी या बुलडोजर का रंग अक्सर पीला ही क्यों होता है? इसकी एक खास वजह है. दरअसल, पहले इसका रंग सफेद और लाल हुआ करता था. लेकिन जब कंस्ट्रक्शन साइट पर काम चलता था, तब यह मशीन दूर से दिखाई नहीं देती थी. रात में भी ये मशीनें नजर नहीं आती थीं. तब कंपनियों ने इसका रंग पीला कर दिया, ताकि इन्हें दूर से देखा जा सके. पीले रंग की वजह से ये दूर से ही नजर आ जाता है और ऐसे में लोगों को समझ में आ जाता है कि वहां कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा है.

जेसीबी क्या है?

JCB एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है, जो बैकलोडर जैसे बड़े उपकरण बनाती है. भारत में जेसीबी मशीन का बहुत ही ज्यादा उपयोग किया जाता है. इस मशीन का उपयोग बड़े काम को आसान बनाने के लिए किया जाता है. चाहे वह सड़क निर्माण से जुड़ा हो या इमारतें बनाने से जुड़ा हो. JCB मशीन का मुख्य उपयोग खुदाई में सबसे ज्यादा किया जाता है. जेसीबी इंडिया की देश में 6 फैक्ट्री और एक डिजाइन सेंटर है. कंपनी ने भारत में बनी मशीनों का निर्यात 110 से ज्यादा देशों में किया जाता है. इन्हें जेसीबी के वन ग्लोबल क्वालिटी स्टैंडर्ड के अनुसार डिजाइन और बनाया जाता है. जेसीबी के कई तरह के प्रॉडक्ट होते हैं, जिसमें Backhoe Loaders, Compactors, Excavators, Mini Excavators, Skid Steer Loaders आदि शामिल हैं.

Next Story