Bihar news: मुझे प्रेग्नेंट करके 13 लाख रुपए ले जाओ का काला सच आया सामने, अब पुलिस ने दबोचा

 
 Bihar news: मुझे प्रेग्नेंट करके 13 लाख रुपए ले जाओ का काला सच आया सामने, अब पुलिस ने दबोचा

Bihar news: बिहार के नवादा जिले की पुलिस ने एक बार फिर बड़ा खुलासा किया है. 'ऑल इंडिया प्रेग्नेंट जॉब एजेंसी' बनाकर साइबर क्राइम करने वाले आठ लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

इस गिरोह के सदस्य मोबाइल फोन के जरिए भोले-भाले लोगों से संपर्क करते थे और उन्हें बताते थे कि उन्हें उन महिलाओं को गर्भवती करना है जिनके बच्चे नहीं हैं।

बदले में पैसा मिलेगा. इन साइबर अपराधियों को कहा गया था कि अगर महिलाएं गर्भवती हो गईं तो उन्हें 5 लाख रुपये दिए जाएंगे. कई लोग इस झूठे वादे के झांसे में आकर धोखाधड़ी का शिकार हो रहे थे.

रजिस्ट्रेशन व अन्य शुल्क के नाम पर 5 से 20 हजार रुपये की ठगी

शुरुआत में साइबर अपराधी रजिस्ट्रेशन के नाम पर 799 रुपये लेते थे. फिर सिक्योरिटी फीस और अन्य चार्ज के नाम पर उनसे 5,000 से 20,000 रुपये तक ठग लिए गए.

एक घर से गिरफ्तार साइबर अपराधी

शनिवार को अपर कल्याण आनंद ने साइबर थाने में गिरोह के बारे में पूरी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गुरमा स्थित ईंट बोरिंग हाउस के पास साइबर अपराध करने वाले 8 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है.

 गिरफ्तार साइबर अपराधियों की पहचान शत्रुघ्न कुमार उर्फ सोनू कुमार, राजेश कुमार, प्रभात कुमार वर्मा, कविंद्र प्रसाद कुमार, गोपाल दास, अनिल कुमार, अजय कुमार और लक्ष्मण कुमार के रूप में की गई है.

साइबर अपराधियों के पास से मोबाइल और प्रिंटर बरामद
गिरफ्तार साइबर अपराधियों के पास से 9 मोबाइल फोन और एक प्रिंटर बरामद किया गया. इन अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने एक टीम का गठन किया था.

फिर छापेमारी कर सभी अपराधियों को पकड़ लिया गया. स्थानीय लोगों का कहना है कि नवादा जिले में साइबर क्राइम के मामले काफी बढ़ गये हैं. अब हर ब्लॉक में साइबर अपराध करने वाले लोगों ने अपना दबदबा कायम करना शुरू कर दिया है.

स्थिति यह है कि युवा इस साइबर अपराध में उतर रहे हैं। फिर धीरे-धीरे वे लोगों को प्रशिक्षित भी करते हैं और उन्हें साइबर अपराध करने के लिए भी कहते हैं।