Chopal TV

कोरोना वायरस की वैक्सीन के लिए जहां दुनियाभर में प्रयास जारी है। वहीं बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद द्वारा बनाई गई कोरोनिल विवाद का केंद्र बन गई है। अब भारतीय आयुर्वेद और योगगुरु बाबा रामदेव ने कोरोनिल दवा को बाजार में उतारने का दावा किया है।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा कि, आयुष मंत्रालय के साथ सभी चीजों का समाधान हो गया है। आज से कोरोनिल और श्वासारी वटी मिलनी शुरू हो जाएंगी। उन्होंने बताया कि, आयुष मंत्रालय ने कोविड मैनेजमेंट के लिए पतंजलि के प्रयासों की सराहना की है। इससे सभी विरोधियों के मंसूबों पर पानी फिर गया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि ड्रग माफिया चाहता था कि कोरोनिल और श्वासारि बैन हो।

बाबा रामदेव ने कहा कि, कोरोनिल और श्वासारी वटी से मरीज ठीक हो रहे हैं। पतंजलि इसे घर-घर तक पहुंचाएगा। इसके लिए ऑर्डर मी ऐप का ट्रायल चल रहा है, जिसे जल्द लॉन्च कर दिया जाएगा। कोरोना पीड़ित मरीज श्वासारी और कोरोनिल खाकर इम्यूनिटी बढ़ा सकेंगे।

बाबा रामदेव ने आगे बताया कि, क्लीनिकल कंट्रोल ट्रायल की पूरी रिसर्च आयुर्वेद विभाग को भेजी है, जो पैरामीटर बनाए गए हैं, उसके अनुरूप ही ये रिसर्च की गई है। उन्होंने कहा कि, आयुर्वेद बीमारियों को जड़ से खत्म करने की प्रक्रिया है।आयुष मंत्रालय के साथ सभी बातों पर सहमति बन गई है।

इससे आयुर्वेद पर सवाल खड़े करने वालों के मंसूबों पर पानी फिर गया है। बाबा रामदेव ने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि योग और आयुर्वेद का काम करना मानों गुनाह हो गया है। जैसे देशद्रोही और आतंकवादियों के खिलाफ एफआइआर होती है। वैसे ही हमारे खिलाफ भी की जा रही है। उन्होंने सवाल किया कि आखिर कोरोना को लेकर क्लीनिकल ट्रायल पर तूफान क्यों खड़ा कर दिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *