Chopal TV

कोविड-19 के लिए विशेष तौर पर आने वाला स्वास्थ्य बीमा उत्पाद ग्राहकों की जेब पर भारी पड़ सकता है। बीमा क्षेत्र के विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना कवच के नाम से जारी होने वाले इस उत्पाद का देशभर में एक समान प्रीमियम रहेगा। लिहाजा कंपनियां औसत बीमा उत्पादों की तुलना में इसकी कीमत बढ़ाकर पेश कर सकती हैं।

बीमा नियामक इरडा का कहना है कि, 10 जुलाई तक यह उत्पाद बाजार में आ जाना चाहिए और देश के सभी हिस्सों में इस पर समान प्रीमियम वसूला जाए। इसका निर्धारण बीमा कंपनियां अपने स्तर पर कर सकती हैं। बीमा कंपनियों का कहना है कि बेहद छोटी अवधि के लिए निश्चित सम एश्योर्ड का प्रीमियम सस्ता रखना संभव नहीं हो सकता है।

टाटा एआईजी जनरल इंश्योरेंस के कार्यकारी उपाध्यक्ष पराग वेद ने कहा कि, अभी हमें कोविड-19 संक्रमण का उच्चतम स्तर नहीं पता चल सका है। हर दिन संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है। जैसे-जैसे जांच का दायरा बढ़ रहा है, नए मरीजों की संख्या भी बढ़ती जा रही है और प्रीमियम निर्धारित करने में मुश्किल आ रही।

पुलिस को कोरोना सेवा के लिए पहले दिये पैसे, वीडियो बनाकर पुलिस को ही करने लगे ब्लेकमैल, गिरफ्तार

बीमा कंपनियों का कहना है कि यह उत्पाद क्षेत्र विशेष के आधार पर नहीं बेच सकते। इसका प्रीमियम मेट्रो शहर के रेड जोन और दूरदराज के इलाकों के लिए एक ही रखना होगा, जो काफी मुश्किल काम है। सीमित समय के लिए दिए जाने वाले बीमा कवर में इलाज के लिए क्लेम की बाढ़ आ सकती है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *