Tata Battery: जल्द नजर आ सकती है Tata की बैटरी भी, इलेक्ट्रिक वाहनों की दुनिया में तहलका मचा देगी टाटा की ये योजना
 

भारत की दिग्गज कार निर्माता कंपनी और बिजनेस समूह, Tata Group एक बैटरी कंपनी शुरू करने की योजना बना रहा है। जिसकी स्थापना समूह भारत समेत कई अन्य देशों में करने की की योजना बना रहा है। इसकी जानकारी टाटा के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने दी।

चेयरमैन ने कहा कि टाटा इन दिनों इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माण पर जोर दे रहा है। एन चंद्रशेखरन ने कहा कि समूह अपने सभी कारोबारों में बदलाव कर रहा है। जिसमें टाटा मोटर्स और जगुआर, लैंड रोवर शामिल है।

सख़्त जलवायु लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कंपनी ने बैटरी और इसके कच्चे माल की सप्लाई चैन में निवेश करके ज़ीरो इमिशन रणनीतियों का पालन करेगी। भारत की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार निर्माता टाटा मोटर्स की 2025 तक 10 इलेक्ट्रिक मॉडल लॉन्च करने की योजना है, जबकि जगुआर लैंड रोवर का लक्ज़री जगुआर ब्रांड 2025 तक पूरी तरह से इलेक्ट्रिक हो जाएगा और कार निर्माता 2030 तक अपने पूरे लाइनअप के ई-मॉडल लॉन्च करेगा।

उन्होंने कहा, "जलवायु परिवर्तन पर दबाव बढ़ रहा है, जो समय के साथ और बढ़ता जाएगा। टाटा समूह जल्द ही कार्बन न्यूट्रल बनने की दिशा में अपने लक्ष्य की घोषणा करेगा। बैटरी "ब्लूप्रिंट" रेनूअबल एनर्जी, हाइड्रोजन, स्टोरेज सॉल्यूशंस और सर्कुलर इकोनॉमी में निवेश करके "भविष्य के लिए तैयार" होने की व्यापक योजना का हिस्सा है।

आपको जानकारी के लिए बता दें, 100 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक के समूह की ऑटोमोटिव शाखा टाटा मोटर्स नेक्सॉन ईवी और टिगोर ईवी जैसे अपने मॉडलों के माध्यम से बिक्री के मामले में भारत में इलेक्ट्रिक यात्री वाहन बाजार का नेतृत्व कर रही है।

टाटा ने हाल ही में एक इलेक्ट्रिक कॉन्सेप्ट AVINYA को पेश किया था, जिसके आधार पर नए इलेक्ट्रिक मॉडल 500 किलोमीटर से अधिक की बढ़ी हुई रेंज के साथ आएंगे। टाटा मोटर्स ने वाणिज्यिक वाहनों में हाल ही में अपने लोकप्रिय मिनी ट्रक, ऐस का ऑल-इलेक्ट्रिक एडिशन लॉन्च किया है।