सिर्फ 23 साल की उम्र में IAS बन गई ये लड़की, दादा से ली कोचिंग, पढ़िए निशा ग्रेवाल की सफलता की कहानी
 


Success Story Haryana IAS Nisha Grewal Bhiwani - हरियाणा की बेटी निशा ग्रेवाल ने पूरे प्रदेश का सिर गर्व से ऊंचा उठा दिया है। महज 23 साल की निशा ग्रेवाल ने पहले ही झटके में UPSC की परीक्षा को पास कर दिया है। निशा एक साधारण परिवार से आती है और दादा रिटायर्ड मैथ टीचर हैं। जबकि पिता बिजली महकमे में अफसर हैं।

हरियाणा के भिवानी जिले के बामला गांव की रहने वाली निशा ग्रेवाल की उम्र महज 23 साल है और वो पहली बार ही UPSC की परीक्षा में शामिल हुई थी। निशा ने UPSC परीक्षा पास ही नहीं की बल्कि 51वीं रैंक हासिल करके खुद के बेहतरीन प्रदर्शन को दिखाया है।

ग्रामीण परिवेश में पली बढ़ी निशा ने खूब मेहनत की। अपनी इस सफलता को श्रेय वो अपने दादा रामफल को देती है। वो गणित के सेवानिवृत अध्यापक हैं। निशा को उनके दादा शुरु से ही पढ़ाई करवा रहे हैं।

ias nisha grewal Haryana

आज से 19 साल पहले जब निशा स्कूल जाने के काबिल हुई थी, तब से ही उसकी ट्रेनिंग शुरू हो गई थी। निशा के दादा रामफल गणित के अध्यापक थे और उन्होंने बचपन से ही निशा को तैयार करना शुरू कर दिया था। गणित के अलावा अन्य विषयों की पढ़ाई भी वे निशा को कराते थे। 

निशा के पिता सुरेंद्र ग्रेवाल बिजली विभाग में सहायक सब स्टेशन इंचार्ज हैं। उनकी तैनाती औद्योगिक क्षेत्र में है। माता प्रोमिला गृहिणी हैं। निशा ने दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस महिला महाविद्यालय से वर्ष 2019 में बीए किया था।

निशा ने कहा कि दो साल पहले परिवार से ही भाई विक्रम ग्रेवाल ने भी यूपीएससी में 51वीं रैंक हासिल की थी। वह फिलहाल आईएफएस हैं। मगर मैं आईएएस बनकर महिला सशक्तीकरण पर काम करना चाहूंगी। उन्होंने कहा कि अगर परिवार ने उन्हें सपोर्ट नहीं किया होता तो आज इस मुकाम पर नहीं पहुंच पातीं। इसलिए लड़कियों को आगे लाना बहुत जरूरी है।