हरियाणा में कोर्ट के फैसलों से नौकरी गंवाने वालों को अब ऐसे मिलेगी नौकरियां, सीएम मनोहर लाल ने बताया फॉर्मूला
 

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत 27,600 परिवारों को प्रदान की गई आर्थिक सहायता- मुख्यमंत्री

कोर्ट के निर्णय से नौकरी गंवाने वालों को हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से रोजगार देने को तैयार- मनोहर लाल

रोजगार के मुद्दे पर लोगों को भड़काना बंद करे कांग्रेस- मनोहर लाल


हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के अति गरीब परिवारों के आर्थिक उत्थान के लिए कटिबद्ध है, ताकि उन्हें मुख्यधारा से जोड़ा जा सके। इसके लिए राज्य सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत आयोजित किए गए अंत्योदय ग्रामोदय उदय मेलों के माध्यम से 27,600 परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की गई है।

मुख्यमंत्री ने आज यहां एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि तीन साल पहले परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) योजना पूरे राज्य में लागू की गई थी ताकि पात्र लाभार्थियों को सरकारी सेवाओं, योजनाओं का लाभ तेजी से सुनिश्चित किया जा सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार पहचान पत्र के तहत पंजीकृत परिवारों की आय का 3 चरण का सत्यापन पूर्ण हो चुका है  और चौथे चरण यानी 75,000 से 1 लाख रुपये तक का सत्यापन का कार्य अभी चल रहा है। आय सत्यापन के आधार पर 1 दिसंबर, 2021 तक 1 लाख रुपये से कम वार्षिक आय वाले 1,48,000 परिवारों का डाटा तैयार कर लिया गया था। इनमें से 91,900 परिवार अंत्योदय मेलों में आए। इन परिवारों में से 58,200 परिवारों को विभिन्न विभागों द्वारा विभिन्न प्रकार की सहायता मुहैया करवाई जानी है। 27,600 परिवारों को सहायता दी जा चुकी है। शेष परिवारों से अभी काउंसलिंग टीम उनकी योग्यता और वे क्या काम कर सकते हैं, जैसे जानकारियां जुटा रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे ही कोरोना की स्थिति में सुधार होगा तो अंतोदय मेलों का दूसरा चरण शुरू किया जाएगा तथा पिछले चरण के शेष परिवारों व और सत्यापित परिवारों को इन मेलों में बुलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मार्च 2022 तक एक लाख परिवारों के आर्थिक उत्थान का लक्ष्य रखा है।

विपक्ष के नेता बेवजह लोगों को भड़का रहे हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने अपने शासनकाल में गलत तरीके से नौकरियां दी, इस कारण अदालत के निर्णय से कई लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी। हमारी सरकार इन सभी लोगों को मानवता के आधार पर रोजगार देने के लिए तैयार हैं। लेकिन विपक्ष के लोग इन लोगों को भड़का रहे हैं, जो गलत है। 

हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से, सरकारी कार्य का अनुभव रखने वालों को प्राथमिकता देकर निगम द्वारा तय मानदंडों के अनुसार काम पर रखा जाएगा। इसके लिए उन्हें हरियाणा कौशल रोजगार निगम पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा। 

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किए जा रहे इस अच्छे काम पर भी विपक्ष के नेता लोगों को भड़का रहे हैं, क्योंकि कांग्रेस के पास विकास या अन्य कोई भी मुद्दा नहीं है, इसलिए वे लोगों को भड़काकर सरकार पर दबाव बना रहे हैं, लेकिन हम दबाव में आने वाले नहीं है।