कच्चे कर्मचारियों को बड़ी सौगात, कॉन्ट्रेक्ट पर काम करने वाले सभी कर्मचारियों को किया पक्का
 

पंजाब सरकार की तरफ से कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने संबंधी नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। राज्य सरकार की तरफ से हाल ही में पंजाब विधानसभा के विशेष सैशन दौरान उक्त मकसद के लिए एक्ट के पास करवाया गया था।

मुख्यमंत्री की तरफ से पेश किए गए उक्त एक्ट में कहा गया था कि ग्रुप सी और ग्रुप डी में एडहाक, कॉन्ट्रैक्ट, वर्क चार्जड, टेम्परेरी या डेली वेजिज पर लगे हुए कर्मचारियों की सेवाओं को पक्का किया जाए। इस लिए विभागों मुताबिक इन कच्चे कर्मचारियों की सेवाओं संबंधी नियम भी तैयार किए गए है। 

पंजाब की चरणजीत सिंह चन्नी सरकार की ओर से आज एक बड़ा फैसला लिया गया है। पंजाब सरकार ने एलान किया है कि राज्य में 36 हज़ार कच्चे कर्मचारी पक्के किए जाएंगे। आज हुई कैबिनेट की मीटिंग के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी ने इस बात का एलान किया। पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी इस फैसले के एलान के वक्त चन्नी के साथ मौजूद रहे।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की ओर से पहले ही संकेत दे दिए गए थे कि आज काफी बड़ा फैसला लिया जाएगा। कैबिनेट की मीटिंग से पहले चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि वह एक बड़ी समस्या का हल करने जा रहे हैं।

कैबिनेट की मीटिंग के बाद चरणजीत सिंह चन्नी प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पहुंचे। खास बात यह रही कि इस बार चरणजीत सिंह चन्नी के साथ जाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए। चन्नी ने कहा कि आज की कैबिनेट मीटिंग में 36 हजार कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने का फैसला लिया गया है।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को सिद्धू और चन्नी के बीच छिड़ी जंग का अंत भी माना जा रहा है। इससे पहले पंजाब सरकार ने जो भी बड़े एलान किए हैं उन पर नवजोत सिंह सिद्धू ने सवाल खड़े किए थे। सिद्धू ने एलान के वक्त चन्नी के साथ बैठकर यह संकेत दे दिया है इस फैसले में उनकी सहमति भी शामिल है।

पंजाब सरकार पूरी तरह से इलेक्शन मोड में नज़र आ रही है। पंजाब सरकार ने पिछले हफ्ते बिजली की दरों में कटौती का एलान किया था। इतना ही नहीं पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाने का फैसला भी चन्नी सरकार की ओर से रविवार को लिया गया। इसके अलावा चन्नी सरकार की ओर से जल्द ही कुछ और बड़े एलान भी किए जा सकते हैं।