स्वस्थ व्यक्ति को भी आ रहा साइलेंट हार्ट अटैक, जानिए क्या है वजह

आजकल साइलेंट हार्ट अटैक ने सभी डरा दिया है। वैसे तो कहा जाता है कि हार्ट अटैक का खतरा शुगर और बीपी के मरीजों को ज्यादा रहता है। अब स्थिति बदल चुकी है।
 

आजकल साइलेंट हार्ट अटैक ने सभी डरा दिया है। वैसे तो कहा जाता है कि हार्ट अटैक का खतरा शुगर और बीपी के मरीजों को ज्यादा रहता है। अब स्थिति बदल चुकी है।

जिसे शुगर या बीपी नहीं है, उसे भी साइलेंट हार्ट अटैक अपनी चपेट में ले रहा है। यानी स्वस्थ व्यक्ति भी साइलेंट हार्ट के राडार पर है। आज के दौर में इंसान की लाइफस्टाइल कुछ ऐसी हो गई है

कि दिल की सेहत का ध्यान रखना काफी जरूरी हो गया है। अब तो कम उम्र वालों को भी हार्ट अटैक जैसी गंभीर स्थिति से गुजरना पड़ जाता है, जबकि सालों पहले ऐसा कम ही देखने को मिलता था। 

हार्ट की धमनियों में ब्लॉकेज

अपोलो में कार्डियोलॉजी विभाग के सीनियर डॉक्टर का कहना है कि आजकल स्वस्थ मरीजों की धमनियों में ब्लॉकेज की शिकायतें मिल रही हैं। यह जानकारी एंजियोग्राफी कराने पर मिलती है। एंजियोप्लास्टी के बाद मरीज का दिल फिर से धड़कते हुए सामान्य हालत में आने लगता है।