35.1 C
Haryana
Wednesday, August 5, 2020

अमित शाह के बाद अब केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान Corona Positive, अस्पताल में हुए भर्ती

Chopal TV केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बाद अब केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान में भी कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। उन्‍हें गुरुग्राम के...

हरियाणवी फिल्म ‘छोरियां, छोरों से कम नहीं’ के हीरो अनिरुद्ध दवे से खास मुलाकात, पढिये

Dr. Alpana Suhasini, Chopal tv

‘इरफ़ान खान साहब को देखकर आंखों में सपने लेकर मुंबई आया था, बस यही सपना है कि जो उन्होंने सिखाया वह पूरी ईमानदारी से निभा पाऊं।’

यह कहना है वर्तमान में टी. वी सीरियल्स और फिल्मों में दर्शकों की मुख्य पसंद बनकर उभर रहे और हरियाणवी फिल्म ‘छोरियां,छोरों से कम नहीं’ के हीरो अनिरूद्ध दवे का।  

अनिरुद्ध ने इमेजिन टीवी के सीरियल ‘राजकुमार आर्यन’ से अपनी अभिनय के करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद उन्होंने सीरियल ‘वो रहने वाले महलो की’ में ‘देवेन’ की भूमिका निभाई थी। अनिरुद्ध दवे ने 2016 में हिंदी फिल्म ‘शोरगुल’ में अभिनय किया था। उन्होंने सोनी टीवी के सीरियल ‘पटियाला बेब्स’ में ‘इंस्पेक्टर हनुमान सिंह’ की भूमिका भी निभाई है।  सीरियल ‘मेरा नाम करेगी रोशन’ में राजवीर का किरदार निभाया था और सीरियल ‘फुलवा’ में ‘लखिया’ के रूप में नजर आए थे। इन सबके अलावा उन्होंने मुख्य भूमिका के रूप में ‘यारो का टशन’ नाम के शो में ‘यारो’ का किरदार अभिनय किया था।

फरीदाबाद में आयोजित फिल्म समारोह में बेस्ट एक्टर का अवार्ड भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के हाथों मिला । अनिरुद्ध दवे का नाम ज़हन में आते ही आंखों के सामने हनुमान सिंह का वह रूप आ जाता है जो अपनी हरियाणवी बोली और दबंग अंदाज़ से सभी के दिलो दिमाग़ पर छा गया था। पटियाला बेब्स सीरियल ने जो ऊंचाइयां छुईं उनमें हनुमान सिंह के केरेक्टर का मुख्य हाथ था।  पेश है चौपाल टी वी न्यूज की विशेष संवाददाता डॉ अल्पना सुहासिनी से हुई बातचीत

प्रश्न– अनिरुद्ध आप राजस्थान से हैं, फिर हरियाणवी फिल्म छोरियां छोरों से कम नहीं, में हीरो बनने का ख्याल कैसे आया?

उत्तर– देखिए एक्टर के लिए कोई भी भाषा मुश्किल नहीं होती।  हम एक्टर्ज का काम ही भाषाएं सीखना होता है। इन पर काम करना होता है । असल में किसी भी कलाकार का मैनरिज्म, बॉडी लैंग्वेज इंपॉर्टेंट होता है सतीश कौशिक जी और राजेश बब्बर जी के सम्पर्क में था काफी पहले से ही, जब स्क्रिप्ट सुनी तो मुझे बहुत अच्छी लगी और मैंने सोचा कि बस ये काम करना है। वैसे भी राजस्थान के व्यक्ति के लिए हरियाणवी सीखना ज़्यादा मुश्किल नहीं,फिर सतीश जी और राजेश जी दोनों खुद हरियाणा के निवासी हैं तो उन्होंने बहुत बारीकी से हर बात समझाई और सिखाई।

प्रश्न–इस फिल्म के बाद से क्या और भी हरियाणवी फिल्मों के ऑफर मिल रहे हैं?

उत्तर– हांजी बिल्कुल। इस फिल्म के बाद से कई ऑफर मिले।

प्रश्न- हरियाणा में काम करने का अनुभव कैसा रहा आपका?

उत्तर-  हरियाणा में इस फिल्म की शूटिंग करके बहुत मज़ा आया था । हरियाणा में टैलेंट भी है और अपनापन भी। रश्मि सोमवंशी के साथ अच्छा अनुभव रहा । दूसरे कलाकार भी ट्यूनिंग में रहे तभी फिल्म बहुत अच्छी बन पाई । सतीश कौशिक जी का बहुत उम्दा व्यक्तित्व हैं। हरियाणा की सादगी और सरलता कमाल की है। 

प्रश्न–हरियाणवी सिनेमा के बहुत ना उभर पाने का आप क्या कारण मानते हैं?

उत्तर– असल में ऐसा नहीं है कि हरियाणा में फिल्में नहीं बनी, फिल्में तो ख़ैर बनती रहीं लेकिन कामर्शियल सिनेमा नहीं बन पाया। बस उस दिशा में यदि प्रयास और बढ़ें तो हरियाणवी सिनेमा बहुत आगे जा सकता है। और आज तो इस दिशा में बेहद सार्थक प्रयास लगातार हो भी रहे हैं। 

प्रश्न– अभिनय की ओर रुझान कैसे हुआ?

उत्तर-  शायद अभिनय मेरे भीतर ही कहीं रचा बसा है,क्यूंकि जब मैं छोटा सा था यानी महज़ चार पांच साल का रहा हूंगा जब मेरे मम्मी पापा मुझे पहली बार स्कूल लेकर गए और मुझे स्कूल में बैठाकर डॉक्यूमेंट जमा कराने लगे, और जब लौटकर देखा तो मैं क्लास में न होकर उन्हें स्टेज पर ही मिला। यानी शुरू से ही मंच मुझे अपनी ओर खींचता था। उसके बाद जब बड़ा हुआ तो राजस्थान में कुछ थियेटर ग्रुप ज्वाइन किए और अभिनय करने लगा। इरफ़ान भाई चूंकि जयपुर से ही हैं इरफान भाई को देखकर और उन्हीं के पदचिन्हों पर चलते दिल्ली के एनएसडी से होते हुए मुम्बई पहुंच गया। इरफ़ान भाई से मैं हमेशा प्रेरणा पाता हूं। इरफान भाई की जगह कोई नहीं ले सकता । उनके साथ बहुत सी यादें जुड़ी हैं। कई बार मुलाक़ात भी हुई,कभी सेट पर तो कभी फोन पर , बहुत प्रेरक इंसान थे।

प्रश्न- आपका सीरियल पटियाला बेब्स हर घर की पसंद बन गया था, उसमे कैसे चयन हुआ?

उत्तर- जब मैं छोरियां छोरों से कम नहीं की शूटिंग कर रहा था तो मेरी हरियाणवी बहुत अच्छी हो गई थी, उन्हीं दिनों पटियाला बेब्स के ऑडिशन का पता चला। वहां गया तो रीमा जी ने बोला कि हनुमान सिंह नाम का एक  पात्र है जो आधी पंजाबी और आधी हरियाणवी बोलता है, जब मैंने हनुमान सिंह का ऑडिशन दिया तो उन्हें बेहद पसंद आया और सोनी चैनल को जब भेजा गया तो वहां से भी स्वीकृति हो गई इस प्रकार मेरा चयन उसमे हुआ और दर्शकों का बहुत प्यार मिला।

प्रश्न– एक एक्टर् को कैसा होना चाहिए?

उत्तर– एक्टर् को बहुआयामी होना होता है। क्यूंकि विभिन्न किरदारों को निभाना आसान नहीं है। उसे पढ़ने का शौक भी होना चाहिए, सिर्फ चमक दमक के लिए एक्टिंग की दुनिया में न आए, इस लाइन में अगर आना है तो बहुत सहनशीलता, बहुत समर्पण और बहुत विनम्रता होनी चाहिए। निरंतर नया सीखते रहने की ख्वाहिश भी ज़रूरी है। खुद को ब्लॉक न करे, हमेशा जिज्ञासु बने रहें तभी बेहतरीन से बेहतरीन काम आप कर पाएंगे। 

प्रश्न- बॉलीवुड पहुंचने के बाद का अनुभव बताएं?

उत्तर– एक्टिंग का जुनून बॉलीवुड ले तो आया लेकिन कड़ा संघर्ष रहा। मगर मेरे दिलो दिमाग में हमेशा इरफ़ान भाई रहते हैं शुरू से ही। मुझे लगता था कि उनकी तरह ही पहचान बनानी है, आज भी वे मेरे आदर्श हैं। आज इंडस्ट्री में 12,13 साल के बाद ये कह सकता हूं कि कुछ पहचान तो बनी है। लेकिन ये भी सच है कि संघर्ष कभी ख़तम नहीं होता वह हमेशा चलता है, लेकिन काम अपने मन का हो तो संघर्ष में भी आनंद है।

प्रश्न–नेपोटिज्म के बारे में क्या कहेंगे?

उत्तर–देखिए मेरे ख़्याल से नेपोटिज्म सिर्फ़ फिल्मी दुनिया में ही भी बल्कि हर क्षेत्र में है। हर जगह भाई भतीजावाद का बोलबाला रहता है। ऐसे में ज़रूरत है अपने हुनर पर यकीन रखकर आगे बढ़ने की। टैलेंट को दबाया नहीं जा सकता, वह अपना रस्ता बना ही लेता है। 

प्रश्न-  -कोरोनाकाल में क्या विशेष कर रहे हैं?

उत्तर–  इन दिनों फिल्म्ज की स्क्रिप्ट पढ़ रहा हूं, वर्ल्ड सिनेमा देखता हूं और माउथ ऑर्गन बजाने का शौक पूरा करता हूं । जल्द ही कुछ फिल्मों पर काम भी शुरू हो जाएगा, यह वक़्त है , अच्छी फिल्में, सिनेमा, किताब पढ़ने का । एक दो स्क्रिप्ट लिखी भी हैं।

Don't Miss

हरियाणा में 210 परिवारों को मिला अपना घर, पीएम आवास योजना के तहत मिला है लाभ

Chopal Tv, Chandigarh प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वर्ष 2022 तक सबके सिर पर छत के सपने को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए...

हरियाणा में आज कोरोना के 654 नये केस, अब तक 440 मौत, देखें मेडिकल बुलेटिन

Umang Sheoran, Panchkula हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोरोना को लेकर आंकड़े जारी किये गए हैं। आज प्रदेश में कोरोना के 654 नये...

हरियाणा में गरीब महिलाओं और लड़कियों के लिए योजना होगी शुरु, जानिये क्या है योजना ?

Chopal Tv, Chandigarh हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल 5 अगस्त को गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली किशोरियों व महिलाओं के लिए ‘महिला एवं...

Bolero गाड़ी में भरी हुई थी एक करोड़ की अफीम और चरस, STF टीम ने दबोचा

Chopal Tv, Sonipat उच्च अधिकारियों के दिशा निर्देशानुसार समस्त हरियाणा पुलिस ने मादक पदार्थ तस्करो की धरपकड़ का अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के...

शहर में सस्ती शराब की मुनादी आपने कहीं सुनी है क्या, नहीं सुनी तो जानिये हरियाणा के इस शहर का मामला

Chopal Tv, Fatehabad फतेहाबाद में सस्ती शराब बेचने की मुनादी करवाने का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए...
93,856FansLike
127FollowersFollow
25,042SubscribersSubscribe

Don't Miss

हरियाणा में 210 परिवारों को मिला अपना घर, पीएम आवास योजना के तहत मिला है लाभ

Chopal Tv, Chandigarh प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वर्ष 2022 तक सबके सिर पर छत के सपने को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ते हुए...

हरियाणा में आज कोरोना के 654 नये केस, अब तक 440 मौत, देखें मेडिकल बुलेटिन

Umang Sheoran, Panchkula हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोरोना को लेकर आंकड़े जारी किये गए हैं। आज प्रदेश में कोरोना के 654 नये...

हरियाणा में गरीब महिलाओं और लड़कियों के लिए योजना होगी शुरु, जानिये क्या है योजना ?

Chopal Tv, Chandigarh हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल 5 अगस्त को गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली किशोरियों व महिलाओं के लिए ‘महिला एवं...

Bolero गाड़ी में भरी हुई थी एक करोड़ की अफीम और चरस, STF टीम ने दबोचा

Chopal Tv, Sonipat उच्च अधिकारियों के दिशा निर्देशानुसार समस्त हरियाणा पुलिस ने मादक पदार्थ तस्करो की धरपकड़ का अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के...

शहर में सस्ती शराब की मुनादी आपने कहीं सुनी है क्या, नहीं सुनी तो जानिये हरियाणा के इस शहर का मामला

Chopal Tv, Fatehabad फतेहाबाद में सस्ती शराब बेचने की मुनादी करवाने का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए...