हरियाणा में जनवरी के आखिरी सप्ताह में शादियों की भरमार, लेकिन ऐसे मिलेगी अनुमति
 

हरियाणा के सभी जिलों में कोरोना के संक्रमण के चलते रेड जोन घोषित कर दिया गया है। और सभी जिलों में पाबंदियां लागू की गई है। वहीं जनवरी के महीने में शादियों की भी भरमार होने वाली है। 22 जनवरी से लेकर 28 जनवरी की शादियों का जबरदस्त मुहुर्त है।

हिंदू मान्यता के अनुसार खरमास मकर संक्राति के दिन सप्ताह हो जाता है, इसके बाद शादियों और शुभकार्य के लिए दिन उचित होते हैं। इस बार मकर सक्रांति के बाद जनवरी महीने में शादी की चार तिथियां शुभ मानी गई है। जनवरी 2022 में 22, 23, 24 और 25 जनवरी को शुभ विवाह का मुहूर्त है। 

अब लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए सरकार और प्रशासन ने रात 10 से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया है। बाजार में दुकानें भी सायं 6 बजे बंद करने का आदेश है। शादी ब्याह के लिए सीमित संख्या में कार्यक्रम किए जाने के आदेश है। 

इस सख्ती के बाद फरवरी की चार तिथियों में रात के समय की करीब 20 बुकिंग कैंसिल हो गई। साथ ही 9 वैवाहिक कार्यक्रम रात की बजाय अब दिन में ही सीमित संख्या के बीच होगी। प्रशासन ने वैवाहिक कार्यक्रमों में किसी तरह की भीड़ न एकत्र होने पाए इसके लिए ड्यूटी मजिस्ट्रेट से लेकर संबंधित थाने की पुलिस की जिम्मेदारी तय कर दिए हैं।

निर्धारित प्रोफार्मा पर मांगी होगी परमिशन
शादी ब्याह और पारिवारिक कार्यक्रम के लिए निर्धारित प्रोफार्मा पर जानकारी देकर अनुमति मांगनी होगी। इसमें लड़का और लड़की पक्ष, कहां का रहने वाला है, कार्यक्रम स्थल, कितने लोग कार्यक्रम में शामिल होंगे और बिना मास्क और वैक्सीन की कंपलीट डोज वालों के आने पर पाबंदी होने संबंधी शपथ पत्र भी देना होगा।

संबंधित क्षेत्र के एसएचओ को भी ट्रांसफर होगी सूचना
डीसी अथवा एसडीएम कार्यालय से अनुमति मिलने के बाद संबंधित थाने के एसएचओ को भी सूचना जाएगी। पुलिस की भी जिम्मेदारी होगी कि वह चेक करें कि जो सूचनाएं देकर अनुमति ली गई है क्या कहीं उसका उल्लंघन तो नहीं हो रहा है, यदि हो रहा है तो तुरंत ड्यूटी मजिस्ट्रेट को बताना होगा।