Chopaltv.com
कार से कुचलकर दो लोगों को उतारा मौत के घाट, अब गिरफ्तारी की मांग पर अड़े पीड़ित
 

हरियाणा में करनाल जिले के नीलोखेड़ी में सनकी युवक द्वारा गाड़ी से कुचलकर मारे गए 2 लोगों के परिवार ने उनकी डेडबॉडी लेने से इनकार कर दिया। पीड़ित परिवार का कहना है कि जब तक आरोपी अमन को गिरफ्तार नहीं किया जाता, वह संस्कार नहीं करेंगे। पीड़ित परिवार के लोग अस्पताल में ही धरना लगाकर बैठ गए।

घटना रविवार 10 अक्टूबर की है जब नीलोखेड़ी की हैफेड कॉलोनी में रहने वाले अमन ने गली में ही रहने वाले महिंद्र के परिवार के 6 लोगों को अपनी कार से कुचल दिया। इसमें सुभाष और राजरानी की मौत हो गई। मरने वाले जेठ-भाभी थे। सोमवार 11 अक्टूबर को करनाल अस्पताल में दोनों का पोस्टमार्टम हुआ लेकिन महिंद्र के परिवार ने दोनों की डेडबॉडी उठाने से मना कर दिया।

गाड़ी से कुचले जाने की घटना रविवार 10 अक्टूबर की है। नीलोखेड़ी की हैफेड कॉलोनी में रहने वाले महिंद्र के अनुसार, 8 अक्टूबर को उनकी बेटी कीर्ति की शादी थी। घर में मेहमान और रिश्तेदार आए हुए थे। शादी में आए हुए बच्चे गली में ही खेलते थे। उनकी गली में ही बलविंद्र का परिवार भी रहता है। 

बलविंद्र का बेटा अमन रोजाना ही अपनी एसयूवी तेज रफ्तार में लेकर गली से निकलता है। परिवार को डर था कि तेज रफ्तार गाड़ी से कोई हादसा न हो जाए इसलिए उन्होंने बलविंद्र के घर जाकर आग्रह किया कि वह अमन को गाड़ी धीरे चलाने के लिए समझाए मगर बलविंद्र के परिवार और अमन पर कोई असर नहीं हुआ। 

रविवार 10 अक्टूबर को पूरे परिवार ने एक बार फिर अमन को समझाने का फैसला किया और बलविंद्र सिंह की फैमिली को बुलाया। अमन भी अपनी एसयूवी लेकर वहीं आ गया।

महिंद्र के अनुसार, सभी लोग गली में उनके घर के रैंप पर खड़े रहकर बातचीत कर रहे थे। जब उन्होंने कहा कि गली में बच्चे खेलते हैं इसलिए अमन को गाड़ी धीमी रफ्तार में लेकर निकलना चाहिए तो बलविंद्र ने कहा कि उनका बेटा तो गाड़ी ऐसे ही चलाएगा। इस पर दोनों पक्षों में बहस हो गई। 

उसी समय अमन ने अपनी गाड़ी बैक करके उनके परिवार के सुभाष, राजरानी, शीला, रंजीत कौर, रजनीश और बेबी पर चढ़ा दी। इसके बाद अमन और उसका पिता बलविंद्र वहां से फरार हो गए।

महिंद्र की बेटी रितू ने बताया कि अचानक गाड़ी की टक्कर से सभी लोग नीचे गिर गए। अमन उनकी चाची राजरानी के ऊपर से गाड़ी के दोनों टायर निकालकर ले गया जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना में घायल सुभाष ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। 
इस घटना में उनकी मां की टांग टूट गई और भाभी की हालत भी गंभीर है। रितू ने कहा कि दो दिन पहले तक उनके घर में शादी की खुशियां थी मगर अब मातम छाया है। दो दिन से चूल्हा नहीं जला।

थाना प्रभारी कंवर सिंह ने बताया कि आरोपी अमन और उसके पिता बलविंद्र फरार हैं। पुलिस की टीम दोनों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है। घटना में चार लोग घायल हैं। पुलिस की श्ुरुआती जांच में सामने आया कि अमन ने जानबूझकर इन लोगों पर गाड़ी चढ़ाई।