हरियाणा

हरियाणा रोडवेज के दो ड्राइवर और 4 कंडक्टर सस्पेंड, जानिये क्या है वजह ?

Chopal Tv News Desk
11 Jan 2022 4:05 AM GMT
हरियाणा रोडवेज के दो ड्राइवर और 4 कंडक्टर सस्पेंड, जानिये क्या है वजह ?
x
हरियाणा रोडवेज के दो ड्राइवर और 4 कंडक्टर सस्पेंड, जानिये क्या है वजह ?

हरियाणा के पानीपत जिले के रोडवेज डिपो में गबन का बड़ा मामला सामने आया है। यहां के प्रबंधक ने बड़ी कार्रवाई की है। प्रबंधक कुलदीप जांगड़ा ने 2 चालकों और चार परिचालकों को सस्पेंड कर दिया गया है। इतना ही नहीं, उन्होंने एक कर्मी के खिलाफ गबन के आरोपों में पुलिस को शिकायत देकर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज करने के बारे में भी कहा है।

इस कार्रवाई के बाद बाकी कर्मियों में हडकंप देखा जा रहा है। अब हर कर्मचारी अपने-अपने स्तर पर काम को ठीक करने का प्रयास कर रहा है। सस्पेंड किए गए रोडवेज कर्मियों पर गबन, रूट डायवर्ट और गैरहाजिर रहने जैसे संगीन आरोप है।एक ही बस के ड्राइवर जोगिंद्र और कंडक्टर संजय पर गंभीर आरोप है।

इन दोनों कर्मियों ने रूट डायवर्ट कर अपनी मनमर्जी से बस को चलाया। इसके अलावा कंडक्टर संजय पर 75 हजार रुपए का गबन करने के आरोपों को भी जीएम ने अपनी जांच में सही पाया है। वहीं, परिचालक रिंकूराजा लंबे समय से अपनी ड्यूटी से गैर हाजिर था।

रिंकू ने गैरहाजिर होने के बारे में अधिकारियों को कोई सूचना भी नहीं दी थी। परिचालक को विभाग की ओर से कई बार फोन किए गए, मगर उससे संपर्क नहीं हो पाया। इसके अलावा रिंकू से अन्य कई माध्यमों से संपर्क करने का अनेकों बार प्रयास किया गया था।

वहीं, पानीपत से हरिद्वार और हरिद्वार से पानीपत रूट पर चलने वाली पानीपत डिपो की एक रोडवेज बस का चालक राकेश और कंडक्टर वीरेंद्र हरिद्वार से बस को खाली शामली तक ले आए थे। दोनों ने इस रूट पर महज 320 रुपए की ही टिकट काटी गई थी।

शामली आने पर बस को चेक किया गया और सूचना मिलने पर डिपो प्रबंधक ने दोनों को सस्पेंड कर दिया। वहीं, परिचालक कृष्ण के पास गबन की हुई 760 रुपए की पुरानी टिकट मिली। वह इन टिकटों को बार-बार सवारियों को देकर अपनी काली कमाई कर रहा था। इसके अलावा 6495 रुपए की राशि मिली।

जोकि सवारियों से इकट्‌ठा किया हुआ था। मगर विभाग को जमा नहीं करवा रखा था। इतना ही नहीं, उसने रुपए के बदले में सवारियों को टिकट नहीं दे रखी थी। बस का शेड्यूल टाइम शामली अड्‌डे से चलने का साढ़े 6 बजे का था आठ बजे चेक किया तो वह 8 बजे भी शामली अड्‌डे पर ही था। वह बस को अपनी मनमर्जी से चलाता था। उसका पुराना रिकॉर्ड चेक किया तो उसका पिछला रिकॉर्ड भी ऐसा ही मिला।

Next Story