गरीब को दम निकलते वक्त भी नहीं मिला सुकून, फुटपाथ पर बेलन बेच रहे बुजुर्ग की मौत, वीडियो वायरल
 

इंसान का जीवन संघर्षों से भरा होता है। करोड़ों लोग दो वक्त की रोटी के जुगाड़ में जीवन भर संघर्ष करते हैं लेकिन कुछ अभागे ऐसे भी होते हैं, जिन्हें मौत के वक्त भी सुकून नहीं मिल पाता। मध्य प्रदेश के सागर जिले में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां एक बुजुर्ग ने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का जुगाड़ करते करते सड़क पर ही दम तोड़ दिया। 

सागर जिले के कीर्ति स्तंभ के पास तुलसी नगर वार्ड के रहने वाले 80 साल के चंदन राय का शव मोटरसाइकिल से टिका मिला। मौत से कुछ देर पहले तक वो फुटपाथ पर दुकान लगाकर बेलन बेच रहे थे। बाजार में सामान बेचते हुए बुजुर्ग की मौत का वीडियो वायरल हो गया है।

बताया जा रहा है कि बुजुर्ग का परिवार तंगहाली से जूझ रहा था। जिसकी वजह से उन्हें इस उम्र में भी उन्हें फुटपाथ पर दुकान लगानी पड़ रही थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक का नाम 80 वर्षीय चंदनलाल राय है। वह कीर्ति स्तंभ के पास तुलसीनगर में रहता है। घटना बुधवार की बताई जा रही है। रोज की तरह बुजुर्ग बेलन-चौकी बेचने निकला था। इतनी ठंड में भी एक शर्ट पहने चंदनलाल सामान बेचने निकला था की तभी तबीयत अचानक खराब हो गई। तब वह फुटपाथ पर ही पीछे खड़ी मोटरसाइकिल का सहारा लेकर बैठ गए थे। 

बुजुर्ग को काफी देर तक मोटरसाइकिल से टिका देखा गया तो रास्ते से निकलने वाले लोगों की नजर उन पर पड़ी। फिर भीड़ जमा हो गई। मौके पर मौजूद किसी ने पुलिस को सूचना दी और बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाया। डॉक्टरों ने बताया कि बुजुर्ग की पहले ही मौत हो चुकी है। कुछ लोगों ने बताया कि वे यहां से गुजर रहे थे तो देखा कि खिलौने बेचने वाले दादा हैं, उनकी मौत हो गई है। हम लोगों ने पुलिस को सूचना दी। 

इस घटना का वीडियो वायरल हो गया है। बताया जाता है कि चंदनलाल के चार बेटे और एक बेटी है। एक बेटा मानसिक रोगी है। तीन बेटे मजदूरी करते हैं। बेटी की शादी हो गई है, जबकि चारों बेटे अविवाहित हैं। 70 वर्षीय पत्नी सियारानी भी बीमार रहती है। वहीं इस घटना के बाद कांग्रेस ने शिवराज सिंह सरकार को आड़े हाथों लिया और कहा कि यह घटना मध्य प्रदेश सरकार की हवा-हवाई स्ट्रीट वेंडर योजना की पोल खोलती है।