Chopaltv.com
बैंक ने गलती से खाते में भेजे 5.5 लाख रुपये, शख्स बोला- नहीं लौटाउंगा, मोदी ने भेजी है 15 लाख की पहली किश्त
 

बिहार में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां पर बैंक की गलती से एक शख्स के खाते में करीब साढ़े पांच लाख रुपये चले गए, लेकिन अब जब बैंक के कर्मचारी पैसे वापस लेने गए तो युवक ने हैरान कर देने वाली बात कही, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी शख्स को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक बिहार के खगड़ियां जिले के एक व्यक्ति के खाते में बैंक ने गलती से 5.5 लाख रुपये डाल दिये। इसके बाद खाताधारक से बात की तो उसने पैसे लौटाने से इंकार कर दिया।

उसने दावा किया कि ये रकम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तऱफ से भेजी गई है। उन्होंने 15 लाख रुपये देने का वायदा किया था, जिसकी ये पहली किश्त है। 

खगड़िया में ग्रामीण बैंक ने गलती से मानसी थाना क्षेत्र के बख्तियारपुर गांव के मूल निवासी रंजीत दास के खाते में पैसे भेजे और बाद में लौटाने के लिए कई नोटिस दिए लेकिन दास ने रकम वापस करने से साफ इनकार दिया।

रंजीत दास ने कहा, 'जब मुझे इस साल मार्च में पैसा मिला तो मैं बहुत खुश था। मैंने सोचा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा करने का वादा किया था, जिसकी यह पहली किस्त हो सकती है।

उसने कहा कि मैंने सारा पैसा खर्च कर दिया है, अब मेरे बैंक खाते में पैसे नहीं हैं.' मानसी के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने कहा, 'बैंक के मैनेजर की शिकायत पर हमने रंजीत दास को गिरफ्तार कर लिया है, आगे की जांच जारी है.'

मानसी के थाना प्रभारी दीपक कुमार ने कहा, ‘बैंक के मैनेजर की शिकायत पर हमने रंजीत दास को गिरफ्तार कर लिया है, आगे की जांच जारी है।’ 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ्तार रंजीत दास को जेल भेजने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। वहीं, बैंक अफसरों का कहना है कि रंजीत के खाते में गलती से रुपये चले गए थे। 

उन्होंने कहा, ‘बाद में मिलान होने पर इस बारे में पता चला तो रंजीत से रुपये वापस करने को कहा गया, लेकिन तब तक उसने अकाउंट से सारे पैसे निकाल लिए थे। बार-बार कहने पर उसने कहा कि पीएम मोदी ने रुपये भेजे हैं, मैं वापस नहीं करूंगा। उसके लगातार इनकार करने पर हमें पुलिस में शिकायत दर्ज करानी पड़ी।’