Chopaltv.com
कल से सड़कों पर दौड़ेंगी रोडवेज की वोल्वो बसें, जानिए किन-किन रूट पर मिलेगी सुविधा
Chaupal TV, Chandigarh कोरोना काल में थमा रोडवेज की वोल्वो बसों का पहिया अब करीब 14 महिने बाद फिर से घूमने वाला है। कोरोना महामारी के कारण हरियाणा रोडवेज ने अपनी वोल्वो बसों के संचालन पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगा रखी थी। लेकिन अब कोरोना से थोड़ी राहत मिलने...
 
कल से सड़कों पर दौड़ेंगी रोडवेज की वोल्वो बसें, जानिए किन-किन रूट पर मिलेगी सुविधा

Chaupal TV, Chandigarh

कोरोना काल में थमा रोडवेज की वोल्वो बसों का पहिया अब करीब 14 महिने बाद फिर से घूमने वाला है। कोरोना महामारी के कारण हरियाणा रोडवेज ने अपनी वोल्वो बसों के संचालन पर पूर्ण रूप से पाबंदी लगा रखी थी। लेकिन अब कोरोना से थोड़ी राहत मिलने पर यात्रियों को फिर से वोल्वो बसों की सुविधा मिल पाएगी। विभाग ने पहले गुड़गांव-नई दिल्ली-चंडीगढ़ के बीच वोल्वो चलाने का निर्णय लिया है।

The wheel of the roadways volvo buses stopped during the Corona period is now going to spin again after about 14 months. Due to the Corona epidemic, Haryana Roadways had completely banned the operation of its Volvo buses. But now after getting some relief from Corona, passengers will be able to get the facility of Volvo buses again. The department has first decided to run Volvo between Gurgaon-New Delhi-Chandigarh.

हरियाणा राज्य परिवहन ने सभी रोडवेज डिपो के जीएम को निर्देश दिए हैं कि वे अधिक से अधिक बसों को चलाएं, लेकिन यह भी ध्यान रखें कि बसें खाली भी न चलें। फिलहाल रोडवेज की बसें पंजाब, यूपी, राजस्थान और नई दिल्ली जा रही हैं।

कल से सड़कों पर दौड़ेंगी रोडवेज की वोल्वो बसें, जानिए किन-किन रूट पर मिलेगी सुविधा

आपको बता दें कि रोडवेज के बेड़े में करीब 3500 बसें हैं। इनमें से करीब 1850 बसों का संचालन हो रहा है। यदि 50 फीसदी सवारी मिल गई तो ही वोल्वो बसें चलाई जाएंगी। टोटल वोल्वो बसें करीब 50 हैं, इनमें 18 नई खरीदी हैं, जबकि 32 पहले से हैं। हरियाणा रोडवेज की अब उत्तर प्रदेश में रोजाना करीब 85 बसें, राजस्थान में 166 बसें, दिल्ली में 207 बसें, पंजाब में 129 बसें जा रही हैं।

रोडवेज महानिदेशक वीएस दहिया ने बताया कि वोल्लो बसों की बुकिंग ऑनलाइन होगी, जितनी भी बसों की बुकिंग होगी, उतनी ही चलाई जाएंगी। 1 से 27 जून तक बसों की बुकिंग ऑफलाइन की गई है। इस अवधि में 50,46,948 यात्रियों ने सफर किया है। बसों में बिना टैक्स के 36,45,39,855 रुपए की टिकटें कटी हैं।