Chopaltv.com
रणजीत हत्याकांड- बहन से चिट्ठी लिखवाने का था शक, डेरामुखी ने करवा दी थी हत्या, अब इस दिन होगी सजा
 

हरियाणा के डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने 18 अक्टूबर तक सजा पर सुनवाई टाल दी है। इस हत्याकांड में पांच दोषी करार दिये गए थे। आज राम रहीम को रोहतक की सुनारिया जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश किया गया था।

वहीं, दोषी कृष्ण कुमार, अवतार, जसवीर और सबदिल को सीबीआई कोर्ट में सामने पेश किया गया। इस दौरान दोषियों को कड़ी सुरक्षा के घेरे में पुलिस पंचकूला जिला अदालत लेकर आई और पूरे जिले में कड़ी सुरक्षा की गई है।

दोषियों के ऊपर लगी हैं ये धाराएं
रणजीत सिंह हत्याकांड मामले में 8 अक्टूबर को रहीम सिंह और कृष्ण कुमार को कोर्ट ने आईपीसी की धारा-302 हत्या, 120-बी आपराधिक षड्यंत्र रचना के तहत दोषी करार दिया था। वहीं, अवतार, जसवीर और सबदिल को कोर्ट ने आईपीसी की धारा-302, 120-बी और आर्म्स एक्ट के तहत दोषी करार दिया है।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह और चार अन्य आरोपियों को 2002 में हुई रंजीत सिंह की हत्या के लिए दोषी ठहराया गया है। रणजीत सिंह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के समर्थक थे और 10 जुलाई 2002 को उनकी हत्या कर दी गई थी। सीबीआई ने 3 दिसंबर 2003 को रणजीत सिंह हत्या मामले में एफआईआर दर्ज की थी। इस मामले में रंजीत सिंह के बेटे जगसीर सिंह ने याचिका दायर की थी।

2002 में हुई थी रणजीत सिंह की हत्या
डेरा सच्चा सौदा की प्रबंधन समिति के सदस्य रहे कुरुक्षेत्र के रणजीत सिंह (Ranjeet Singh) की हत्या 10 जुलाई 2002 को हुई थी। डेरा प्रबंधन को शक था कि रणजीत सिंह ने साध्वी यौन शोषण की गुमनाम चिट्ठी अपनी बहन से ही लिखवाई थी।

रणजीत सिंह के पिता पुलिस जांच से असंतुष्ट थे और उन्होंने जनवरी 2003 में हाई कोर्ट में याचिका दायर कर सीबीआई जांच की मांग की थी। हाई कोर्ट से आदेश के बाद सीबीआई ने मामले की जांच करते हुए आरोपियों पर केस दर्ज किया था। साल 2007 में कोर्ट ने आरोपियों पर चार्ज फ्रेम किए थे।

सुनरिया जेल में बंद है गुरमीत राम रहीम
बता दें कि गुरमीत राम रहीम (Gurmeet Ram Rahim) को अगस्त 2017 में सीबीआई की विशेष अदालत ने दो महिलाओं से बलात्कार के आरोप में 20 साल जेल की सजा सुनाई थी।
वहीं जनवरी 2019 में एक अदालत ने 16 साल पहले हुए एक पत्रकार के मर्डर के आरोप में राम रहीम और तीन अन्य लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद से ही गुरमीत राम रहीम हरियाणा के सुनारिया जेल में कैद है।