चौपाल TV
ब्रेकिंग न्यूज़
हरियाणा

हरियाणा के इन 8 जिलों में सूक्ष्म सिंचाई योजना को सिरे चढ़ाने की तैयारी, जानिये पूरी जानकारी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हर खेत तक पानी पहुंचाने के लिए सभी उपायुक्तों को सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली पर फोकस करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री आज चंडीगढ़ से प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों की सूक्ष्म सिंचाई एवं परिवार पहचान पत्र के सम्बंध में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में सभी उपायुक्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा उद्देश्य प्रदेश के हर कोने में प्रत्येक खेत तक पानी पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली लगाने के लिए सरकार 85 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान कर रही है। अधिक से अधिक किसानों को सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली अपनाने के लिए प्रेरित करें।

उन्होंने कहा कि जहां पर नहरी पानी से सिंचाई की व्यवस्था है, वहां भी अधिक से अधिक किसानों को सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली अपनाने के लिए प्रेरित करें ताकि जिन क्षेत्रों में पानी की समस्या है, वहां के किसानों को भी खेतों के लिए अधिक से अधिक पानी उपलब्ध हो सके।

मुख्यमंत्री ने सभी उपायुक्तों से उनके जिलों में सूक्ष्म सिंचाई परियोजना के सम्बंध में विस्तार से जानकारी ली और सूक्ष्म सिंचाई के लिए दक्षिण हरियाणा के 8 जिलों भिवानी, रेवाड़ी, चरखी दादरी, हिसार, सिरसा, महेंद्रगढ़, नूंह, पलवल पर विशेष फोकस करने के निर्देश दिए। इनमें से भी चार जिलों भिवानी, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी जिलों पर और अधिक फोकस करते हुए योजना को क्रियान्वित करने के लिए कहा।

उन्होंने कहा कि राजस्थान के साथ लगते जिलों में पानी की अधिक समस्या है, इसलिए इन जिलों में न केवल सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली को गति देने के लिए काम करें बल्कि इन जिलों में सिंचाई विभाग के पर्याप्त स्टाफ की नियुक्ति भी करें।

मुख्यमंत्री ने परिवार पहचान पत्र योजना के विभिन्न बिंदुओं पर उपायुक्तों से फीडबैक लिया और सर्वे के काम में तेजी लाने के लिए कहा। उन्होंने सभी उपायुक्तों को कहा कि छह विभागों के अधिकारियों की टीम का जल्द से जल्द गठन करें ताकि अति गरीब परिवारों की आमदनी बढ़ाने के लिए काम किया जा सके।

उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के आर्थिक उत्थान को सामाजिक जिम्मेदारी मानकर काम करने की आवश्यकता है। इसके लिए वालंटियर्स, कॉलेज विद्यार्थी और समाज सेवकों को प्रोत्साहित करें ताकि सर्वे का कार्य जल्द पूरा करके अति गरीब परिवारों को लाभ दिया जा सके।

इस मौके पर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डीएस ढेसी, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, श्री पीके दास, श्रीमती धीरा खंडेलवाल, श्री देवेंद्र सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर एवं अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित अग्रवाल सहित कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts

हरियाणवी डांसर सपना चौधरी के खिलाफ दिल्ली में केस, जानिये क्या है मामला ?

Sahab Ram

जेल में बंद भांजे को सुविधाएं दिलाने का झांसा दे हेड कांस्टेबल ने किया महिला के साथ ये काम, देखिए

Sahab Ram

खुशखबरी: महज 8000 रुपये में खरीदें ये लेटेस्ट स्मार्टफोन, मिलेंगे दमदार फीचर्स

Misha