हरियाणा

शादी के 3 दिन बाद ही काल के गाल में समा गई महिला, मायके जाने के दौरान सड़क हादसे में हुई मौत, 7 घायल

Chopal Tv News Desk
24 Feb 2022 4:46 PM GMT
शादी के 3 दिन बाद ही काल के गाल में समा गई महिला, मायके जाने के दौरान सड़क हादसे में हुई मौत, 7 घायल
x
शादी के 3 दिन बाद ही काल के गाल में समा गई महिला, मायके जाने के दौरान सड़क हादसे में हुई मौत, 7 घायल

तीन दिन पहले ही अपने नये जीवन शुरुआत करने के लिए शादी के बंधन में बंधकर ससुराल पहुंची युवती की 3 दिन बाद ही सड़क हादसे में मौत हो गई। किसे पता था कि वह अपने मायके से जिंदगी भर के लिए विदा हो रही है। अब परिवार के लोग बार बार अपनी बेटी भूपवती को याद कर विलाप कर रहे हैं। तीन दिन पहले जिन घरों में सहनाई बज रही थी। वहां अब मातम छाया हुआ है। इसकी वजह सड़क हादसे में भूपवती की जान जाना है। उसकी शादी 19 फरवरी को हुई थी। शादी के तीन दिन बाद महिला अपने भाईयों के साथ मायके जा रही थी। इसबीच ही केएपपी एक तेजरफ्तार ट्रक ने पिकअप में जोरदार टक्कर मार दी। जब तक लोग संभालते पीछे से आ रहे एक और ट्रक पिकअप से टक्करा गया। जिसमें भूपवती उर्फ पूजा की मौत हो गई। जबकि 7 लोग घायल हो गये।

जानकारी के अनुसार, पंजाब के जिला होशियारपुर के गांव ठक्करवाल की रहने वाली भूपवती उर्फ पूजा की शादी गुरुग्राम जिले के बादशाहपुर गांव के राजीव के साथ हुई थी। परिजनों ने शादी के दिन भूपवती को हंसते हुए विदा किया था, लेकिन उन्हें नहीं मालूम था कि वह अब कभी घर नहीं पहुंचेगी। शादी के बाद पहली बार पंजाब से मायके वाले भूपवती को लेने के लिए बादशाहपुर गांव पहुंचे थे। गुरुवार की सुबह ही भूपवती को लेकर अपने घर पंजाब की ओर जा रहे थे। ससुराल से मात्र 15 किलोमीटर दूर ही चले थे कि केएमपी पर मुंडाखेड़ा गांव के पास उनकी पिकअप गाड़ी की दुर्घटना में भूपवती की मौत हो गई। दुर्घटना में भूपवती का जीजा रवि और प्रेम, भाई दिनेश, लालू, रिंकू, बिजेन्द्र और चालक शंकर भी घायल हुए हैं। सभी व्यक्ति पंजाब के रहने वाले हैं जो कि बुधवार को बादशाहपुर गांव में गए थे।

घायल रवि के अनुसार, गुरुवार की सुबह भूपवती को लेकर पंजाब की ओर रवाना हुए थे, लेकिन उन्हें क्या मालूम था कि केएमपी पर खड़ा एक ट्रक भूपवती की मौत का ग्रास बनकर खड़ा है। जिस युवती की खुशी-खुशी शादी कर परिजनों ने विदा किया था, तीन दिन बाद उसका शव घर पहुंचने पर मातम पसर गया। आखिर केएमपी पर ट्रक चालकों की लापरवाही कब तक लोगों पर भारी पड़ती रहेगी। चार माह पहले भी एक ट्रक ने उत्तर प्रदेश के नौ लोगों की जिंदगी छीन ली थी।

Next Story