हरियाणा

Mustard Oil Price : सरसों तेल के दाम में आई तगड़ी गिरावट, प्रत‍ि लीटर इतने कम हो गए दाम, यह है कारण

Chopal Tv News Desk
14 Jan 2022 7:04 AM GMT
Mustard Oil Price : सरसों तेल के दाम में आई तगड़ी गिरावट, प्रत‍ि लीटर इतने कम हो गए दाम, यह है कारण
x
Mustard Oil Price : सरसों तेल के दाम में आई तगड़ी गिरावट, प्रत‍ि लीटर इतने कम हो गए दाम, यह है कारण

Mustard Oil Price : सरसों के तेल में लगातार तेजी से लोग परेशान थे। घर का बजट प्रभावित हो रहा था। अब राहत की बात है। सरसों तेल (Mustard Oil) सस्ता होने लगा है। सीधे कहें तो सरसों तेल में भड़की आग को ठंड लग गई है। खाद्य तेलों के भाव में कमी होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। दो से तीन माह पूर्व जो सरसों व सोयाबीन के तेल (Soybean Oil) आसमान छू रहे थे। आज उनमें 17 से 22 रुपये तक की कमी आ गई है।

People were worried about the continuous increase in mustard oil. The budget of the house was getting affected. Now it's a relief. Mustard oil is getting cheaper. Simply put, the fire that broke out in mustard oil has cooled down. People heaved a sigh of relief as the prices of edible oils fell. Mustard and soybean oil which were touching the sky two to three months ago. Today they have come down from Rs 17 to 22.

इसकी वजह आयातित खाद्य तेलों के कर शून्य किए जाने के साथ-साथ सरकार द्वारा वायदा कारोबार पर रोक लगाने का आदेश जारी करना भी है। कारोबारियों का कहना है कि आगे और भी तेल के दामों में और कमी देखने को मिल सकती है। जिससे लोगों की जेब दबाव कम होगा।

Mustard Oil Price Reduced so Much

पिछले साल की तुलना में सरसों के तेल (Mustard Oil) के दाम में भारी गिरावट देखन को मिल रही है। 2021 में जहां सरसों के तेल (Mustard Oil) के भाव अपने उच्चतम रेट 200 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गए थे। वहीं, नए साल 2022 में सरसों के तेल (Mustard Oil) के रेट कम हो गए हैं। बीते एक महीने में अगर तेल के दामों पर नजर डालें तो अक्टूबर-नवंबर में जो सरसों का तेल 185 रुपये प्रति लीटर के भाव बिक रहा था।

इस इस समय वह घटकर 163 से 168 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इसी प्रकार सोयाबीन का तेल (Soybean Oil) नवंबर में 140 रुपये प्रति लीटर था वह इस समय घटकर 130 से 132 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इससे निवेशकों ने राहत की सांस ली है। वायदा बाजार विशेषज्ञों की मानें तो आने वाले दिनों में जनवरी में सरसों के तेल भाव अधिक गिरावट देखने को मिल सकती है। उनका दावा है कि आगामी दिनों में सरसों के तेल (Mustard Oil) के भाव 100 रुपये प्रति लीटर यानी अपने पुराने रेट तक पहुंच सकते हैं।

Mustard Oil Prices Expected to Fall Further

बता दें कि कृषि विभाग के अधिकारियों ने पहले से ही सरसों के तेल (Mustard Oil) के भाव में गिरावट होने का अनुमान जताया था। उनका तर्क था कि 2021 में जिस तरह से सरसों की पैदावार हुई है, ठीक उसी तरह से सरसों के तेल के भाव भी गिरने तय है। वहीं बाजार विशेषज्ञों का भी दावा है कि आने वाले दिनों में सरसों के तेल (Mustard Oil) के भाव में बड़ी गिरावट देखने को मिलगी। उनका कहना है कि जनवरी के बाद सरसों का तेल रेट अपने न्यूनतम स्तर तक पहुंच सकते हैं।

Soybean Oil Price also Fell

बाजार के जानकारों के मुताबिक खरीफ की मुख्य फसल सोयाबीन का उत्पादन कम होने से सितंबर से ही भाव में तेजी शुरू हो गई थी। इससे सोयाबीन तेल (Soybean Oil) के भाव सितंबर में 90 रुपये से बढ़कर जनवरी तक 140 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गए थे। तेल के भाव में चार महीने में 45 रुपये प्रति लीटर की रिकार्ड तेजी से आम आदमी के घर का बजट बिगड़ रहा था। लेकिन अब इसमें गिरावट शुरू हो गई है। इससे लोगों को आठ से दस रुपये तक बचत होने लगी है।

सरसों की पैदावार पिछले वर्ष की तुलना इस साल अच्छी हुई है। निश्चित रूप से आने वाले दिनों तेलों के दामों में और कमी आएगी। राशन में खाद्य तेल के वितरण से भी सरसों तेल (Mustard Oil) की मांग घटती है। यह भी दाम में गिरावट की एक वजह है। पिछले एक माह में तेल के भाव में अधिक कमी आई है। - संजय सिंघानिया, अध्यक्ष, चेंबर आफ कामर्स

सरकार के प्रयास से तेलों के दामों में कमी आई है। अभी आगे भाव में और भी कमी होने की उम्मीद है। जिससे लोगों को राहत मिलेगी और उनके किचन का बजट भी उनके नियंत्रण में रहेगा। - मनोज त्रिपाठी, तेल के थोक कारोबारी।


Next Story