Chopaltv.com
हरियाणा के इस शहर में आज रात से इंटरनेट सेवा बंद, जिला प्रशासन ने लिया बड़ा फैसला
 
 

Internet Service Ban in Karnal- हरियाणा सरकार ने कल करनाल जिला में किसान महापंचायत के आह्वान को देखते हुए सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए आज दोपहर 12.30 बजे से कल 7 सितंबर को रात 23.59 बजे तक इंटरनेट सेवाएं निलंबित करने के निर्देश दिए हैं।

एक सरकारी प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कल करनाल जिला में जो किसान महापंचायत आहूत की गई है उसमें जन सुरक्षा तथा कानून-व्यवस्था में व्यवधान हो सकता है।  इंटरनेट सेवाओं के दुरुपयोग जैसे मोबाइल एसएमएस, सोशल मीडिया के माध्यम से झूठी अफवाहों का प्रसार हो सकता है जिससे सार्वजनिक संपत्ति और सुविधाओं को नुकसान पहुंचाने की स्पष्ट संभावना है।

उन्होंने बताया कि करनाल जिला में सुरक्षा एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हरियाणा के गृह विभाग के सचिव ने उक्त हालातों के मद्देनजर दूरसंचार सेवाओं के अस्थायी निलंबन (सार्वजनिक आपातकाल या सार्वजनिक सुरक्षा) नियम, 2017 के नियम-2 के आधार पर प्रदान की गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं (2जी/3जी/4जी/सीडीएमए/जीपीआरएस), ज्यादा मात्रा में एसएमएस सहित सभी एसएमएस सेवाएं (बैंकिंग और मोबाइल रिचार्ज को छोड़कर) और सभी डोंगल सेवाएं आदि (वॉयस कॉल को छोड़कर) को निलंबित करने का आदेश दिया है। यह आदेश आज दोपहर 12.30 बजे से कल 7 सितंबर को रात 23.59 बजे तक लागू रहेंगे।

हरियाणा के करनाल में कल प्रस्तावित किसान महापंचायत के मद्देनजर इंटरनेट सेवा बंद करने का फैसला लिया है। इंटरनेट की सेवा करनाल में आज रात से बंद होगी । हरियाणा के करनाल में कल होने वाली महापंचायत को लेकर जिला में माहौल गर्म है। महांपचायत को लेकर जहां किसान पूरी तैयारी कर चुके हैं, वहीं करनाल प्रशासन भी इसके लिए पूरी तरह से सतर्क हो गया है। बीते कल जहां धारा 144 लागू कर दी गई। 

करनाल में SP और उपायुक्त ने 7 सितंबर को होने वाली महापंचायत को लेकर कानून व्यवस्था पर मीडिया से बातचीत की। करनाल के उपायुक्त ने अपील की हैंकि आम जनता से कि अगर ज़रूरी नहीं है तो हाईवे पर ना निकलें, हालांकि प्रशासन की तरफ से एतिहात के मद्देनजर दिल्ली से चंडीगढ़ और चंडीगढ़ से दिल्ली जाने वाले रुट को डाइवर्ट कर दिया है। 

वहीं इंटरनेट सेवा को फिलहाल आज रात से 24 घंटे के लिए बन्द करने का फैसला लिया गया है, प्रशासन की तरफ से फ़ोर्स की 40 कम्पनियां तैनात की जाएगी, जिसमें पुलिस के साथ साथ पैरामिलेट्री फ़ोर्स भी तैनात होगी, अलग अलग ज़िले के 5 आईपीएस और पुलिस बल  भी बुलाया गया है। 

प्रशासन ने साफ कह दिया है ना ही हाईवे को जयम होने दिया जाएगा और ना ही ज़िला सचिवालय का घेराव , अगर किसान शान्तिपूर्ण एक जगह पर प्रदर्शन करना चाहते हैं तो फिर कर सकते हैं। ऐसे में प्रशासन की तरफ से ये भी कहा गया है कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अलग अलग जगह शहर में बेरिकेट्स , डंपर भी लगाए जा सकते हैं। 

करनाल ज़िला सचिवलय सेक्टर 12 में पड़ता है, वहां कई प्राइवेट आफिस भी हैं ऐसे में प्रशासन ने कहा है कि किसी को परेशानी नहीं होने नहीं दी जाएगी और अगर कोई ज़रूरी काम नहीं है तो वो अपना आफिस बन्द भी रख सकता है। प्रशासन ने बताया कि किसान नेता आए थे बातचीत के लिए पर बातचीत में हल नहीं निकला। वहीं धारा 144 लगी हुई है ऐसे में कल करनाल में तनाव रह सकता है। 

हरियाणा के करनाल में कल किसानों की तरफ से महापंचायत बुलाई गई है। किसानों पर बसताड़ा टोल प्लाजा पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में यह पंचायत बुलाई गई है। जिसके चलते प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है वहीं रुटों को भी डायवर्ट किया जा रहा है।

भारतीय किसान यूनियन के आहवान पर कल यानि सात सितंबर को करनाल की अनाज मंडी में महापंचायत होगी और उसके बाद लघु सचिवालय का घेराव किया जाएगा। किसानों की तरफ से यह अल्टीमेटम दिया गया है।

करनाल में किसानों की महापंचायत के चलते प्रशासन ने दिल्ली चंडीगढ़ समेत कई जगहों पर आने जाने वाले वाहनों के लिए रुट डायवर्ट किये गए हैं। वहीं करनाल में सचिवालय एरिया में धारा 144 लागू कर दी गई है।

करनाल के जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव के मुताबिक किसानों की महापंचायत के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 44 यानि जीटी रोड दिल्ली चंडीगढ़ बाधित हो सकता है, जिसके चलते आम लोगों से अलग वैकल्पिक रास्तों को इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है।

ये हैं वैकल्पिक रास्ते
दिल्ली से चंडीगढ़ मार्ग पर रूट डायवर्ट: डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि दिल्ली की ओर से आने वाले वाहनों को पैप्सी पुल (पानीपत) से होते हुए मुनक से असंध व मुनक से गगसीना, घोघड़ीपुर से होते हुए करनाल के हांसी चौंक, बाईपास पश्चिमी यमुना नहर से होते हुए कर्ण लेक जीटी रोड़ 44 से होते हुए चंडीगढ़ की ओर निकाला जाएगा।

इसके अलावा हल्के वाहनों को मधुबन, दाहा, बजीदा, घोघड़ीपुर से होते हुए हांसी चौंक, बाईपास यमुना नहर कर्ण लेक जीटी रोड़ 44 से होते हुए चंडीगढ़ की ओर निकाला जाएगा।

चंडीगढ़ से दिल्ली मार्ग पर रूट डायवर्ट: डीसी निशांत कुमार यादव ने बताया कि 7 सितम्बर को चंडीगढ़ की ओर से आने वाले वाहनों को पीपली चौंक (कुरूक्षेत्र) से लाडवा, इंद्री, ब्याना, नेवल, कुंजपुरा से होते हुए नंगला मेघा, मेरठ रोड़ से होते हुए अमृतपुर खुर्द, कैरवाली तथा घरौंडा से जीटी रोड़ 44 से होते हुए दिल्ली की ओर निकाला जाएगा।

इसके अतिरिक्त हल्के वाहनों को रम्बा कट तरावड़ी से रम्बा चौंक इंद्री रोड़ से होते हुए संगोहा, घीड़, बड़ागांव, नेवल, कुंजपुरा से हेते हुए नंगला मेघा, मेरठ रोड़ से होते हुए अमृतपनुर खुर्द, कैरवाली तथा घरौंडा से जीटी रोड़-44 से होते हुए दिल्ली की ओर निकाला जाएगा।