हरियाणा में सरकार खुद के स्टाफ से तैयार करवाएगी पेपर, गड़बड़ी के बाद नये फॉर्मूले पर हो रहा काम
 

भर्तियों में चल रहे फर्जीवाड़े के बाद परीक्षा प्रणाली में बदलाव की तैयारी शुरु हो चुकी है। आयोग तैयार कर रहे खाका, जल्द मुख्यमंत्री लेंगे अंतिम फैसला। भर्तियों में चल रहे फर्जीवाड़े को देखते हुए निजी एजेंसियों को बाहर कर अब भर्ती परीक्षाओं के पेपर प्रदेश सरकार खुद तैयार करवाएगी।

भर्तियों में लगातार फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद हरियाणा सरकार तमाम परीक्षा प्रणाली अपने नियंत्रण में लेने की तैयारी में जुट गई है। हरियाणा लोक सेवा आयोग और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग इसका खाका तैयार करने में लग गये हैं। जल्द ही मुख्यमंत्री खट्टर इस संबंध में आयोग के अधिकारियों व प्रतिनिधियों से बैठक कर अंतिम फैसला लेंगे।

फिलहाल HPSC और HSSC की भर्तियों के पेपर तैयार करना, सिक्योरिटी, परीक्षा केंद्रों में CCTV, रोल नंबर तैयार करने और पेपर कंडक्ट कराने का काम निजी कंपनियों के पास है। OMR शीट स्कैन करने, रिजल्ट बनाना और उत्तरकुंजी (answer key) में आपत्तियों का काम भी निजी कंपनियों के हाथों में है। इसी बिच आयोग का काम इन कंपनियों पर निगरानी करना है, लेकिन किसी कारण वश स्टाफ और ढांचा नहीं होने के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा है।

भर्तियों में हो रहे फर्जीवाड़े से सरकार की फजीहत के बाद अब दोनों आयोग परीक्षा प्रणाली को लेकर नए सिरे से मंथन करने में जुट गये हैं। वहीं दूसरे प्रदेशों के परीक्षा प्रणाली को भी देखा जा रहा है, ताकि दोबारा से इसको फुल प्रूफ किया जा सके। मंथन और सुझावों में ये बात अभी तक सामने आई है कि निजी कंपनियों से परीक्षा प्रणाली से संबंधित कार्य छीनकर आयोग ही अपना पूरा ढांचा तैयार करे, ताकि हर स्टेप पर सरकार का नियंत्रण हो।

मसौदा जल्द सरकार को भेजेंगे
एचपीएससी (HPSC) के चेयरमैन आलोक वर्मा ने कहा कि भर्तियों में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए पूरी परीक्षा प्रणाली के ढांचे में बदलाव का मसौदा तैयार किया जा रहा है। एचएसएससी (HPSC) के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने भी कहा कि जल्द ही मसौदा तैयार कर सरकार को भेजा जाएगा। अंतिम फैसला सीएम लेंगे।