Chopaltv.com
ओपी चौटाला की जनसभाओं में जुट रही भारी भीड़, आज चौटाला ने हुड्डा को लेकर कही ये बड़ी बात
 

केन्द्र ने तीन कृषि कानून व प्रदेश सरकार ने भूमि अधिग्रहण नियम में संशोधन कर किसानों के साथ किया विश्ववासघात: ओमप्रकाश चौटाला

पूर्व मुख्यमंत्री ने सरकार पर साधा निशाना, बोले- प्रदेश पर कर्जा किया दुगुना, सिर पर कर्ज लेकर प्रदेश में बच्चा होता है पैदा, लुटेरों की सरकार, हर वर्ग परेशान, जनता चुनाव के इंतजार में, सता में आने पर हर पढ़े लिखे युवा को दिया जाएगा रोजगार

इनेलो सुप्रीमो चौटाला ने पूर्व सीएम हुड्डा पर भी साधा निशाना, बोले- षडयंत्र के तहत भेजा था जेल, अब हुड्डा अपनी जेल जाने की कर ले तैयारी

कार्यकत्र्ता सम्मेलन में की शिरक्त, 25 सितंबर की जींद रैली का दिया निमंत्रण, पत्रकारों से हुए रूबरू, संगठन को मजबूत करने का दिया मूलमंत्र

इनेलो सुप्रीमो एंव पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि केन्द्र सरकार की तर्ज पर ही प्रदेश सरकार काम कर रही है जिस प्रकार केन्द्र ने तीन कृषि काले कानून बनाए वैसे ही प्रदेश सरकार ने भूमि अधिग्रहण नियम में संशोधन कर किसानों के साथ विश्वासघात किया है।

उन्होंने कहा कि इस नियम के तहत एक दिन का किसानों को नोटिस देकर सरकार उनकी जमीन को अधिग्रहण कर लेगी जोकि पूरी तरह से गलत है। उन्होंने प्रदेश सरकार को लुटेरों की सरकार की संज्ञा दी।

इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि आज प्रदेश पर कई गुणा कर्ज हो गया है और प्रदेश में पैदा होने वाला बच्चा भी अपने सिर पर एक लाख रूपये कर्ज लेकर पैदा होता है। प्रदेश सरकार से हर वर्ग परेशान है और चुनाव का इंतजार कर रही है।

dd

साथ ही उन्होंने कहा कि इनेलो की सरकार बनते ही हर पढ़े लिखे युवा को रोजगार दिया जाएगा। यह बात उन्होंने शुक्रवार को रूपया चौक स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकत्र्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कार्यकत्र्ताओं को संगठन मजबूत करने का मूलमंत्र भी दिया। साथ ही कार्यकत्र्ताओं का आह्वान किया कि वे पार्टी की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाए।

उन्होंने 25 सितंबर को जींद में होने वाले ताऊ देवी लाल की जयंती पर आयोजित समारोह का भी निमंत्रण दिया। बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा पर भी निशाना साधा और कहा कि एक षडयंत्र के तहत उन्हें जेल भिजवाया गया था।

op Chautala programme

उन्होंने कहा कि हुड्डा की सोच थी कि चौटाला के जेल जाने से इनेलो पार्टी खत्म हो जाएगी लेकिन उनकी गैर हाजरी में संगठन और अधिक मजबूत हुआ है।

उन्होंने कहा कि अब पूर्व सीएम भूपेन्द्र सिंह हुड्डा अपनी जेल जाने की तैयारी कर ले। किसान आंदोलन को लेकर इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि यह 36 बिरादरी का आंदोलन है। सरकार जातिवाद का जहर घोलकर आंदोलन को तोडऩा चाहती है लेकिन सरकार की यह मंशा कभी पूरी नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि पहले किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाता है और बाद में उन पर लाठीचार्ज कर गिरफ्तार कर लिया जाता है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के चलते हालात ऐसे हो गए है कि मुख्यमंत्री व अन्य मंत्री अपने क्षेत्रों में कार्यक्रम तक नहीं कर पा रहे है। सरकार को किसानों की अनदेखी का भारी खमियाजा भुगतना पड़ेगा।

ऐलानाबाद उपचुनाव को लेकर भी पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार चुनाव कराने से बच रही है क्योंकि इस सीट पर चुनाव होने के बाद सरकार अल्पमत में आ जाएगी और प्रदेश में मध्यवर्ती चुनाव होंगे, इसी भय के चलते सरकार उपचुनाव नहीं करवा रही है।

ererr

इस अवसर पर इनेलो प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी, कर्ण सिंह चौटाला, श्याम सिंह राणा, प्रकाश भारती, डॉ. नफे सिंह लाहली, बलवंत मायना, एडवोकेट कृष्ण कौशिक, रामकुमार सैनी, सुशील गौतम, विनेश लाकड़ा, संदीप नेहरा, ईश्वर सिंह मलिक, वेद सिंह नैन, ताजबीर शिमली, पुनित मायना, वेद भैराण, करतार काहनी, यादराम सरपंच, विनोद अहलावत एडवोकेट, सतीश राठी, कुंती देवी, सुशीला राणा, शीला खरैटी, जसबीर जस्सा, खजान सिंह, बलराज खासा, हैप्पी भालौठ, राजबीर वाल्मीकि, डॉ. रणबीर हुड्डा, सूरज देहराज, सुबेदार ईश्वर सिंह, नबाव खान, समरजीत नरवाल, सुनीता नांदल, राजेश फरमाना, डॉ. देवेन्द्र सहारण, सतबीर मलिक, सेवानिृवत इंस्पेक्टर इन्द्र सिंह, कमला मलिक, राजेश कटवाडा, कृष्ण सांपला, दलेल ढाका, भोला ढाका, राजेश ढाका, जितल, उमेद सिंह, रामानंद सरपंच, वेद सुडाना, रामफल, कैलाशो देवी, सरोज साहरण, पवन ककराना, कृष्ण पांचाल, नौरंग दहिया, जितेन्द्र बल्हारा, दीपक हुड्डा, दीपक, शीला देवी, लक्की सरदार, दीपक बनियानी, पप्पू नौनद व बलजीत प्रमुख रूप से मौजूद रहे।