हरियाणा की तेजतर्रार IPS भारती अरोड़ा की VRS को मंजूरी, सीएम ने लगाई मुहर, कृष्ण भक्ति में बिताना चाहती हैं वक्त
 

अंबाला रेंज की आइजी व वरिष्ठ आइपीएस अफसर भारती अरोड़ा के स्वैच्छिक सेवानिवृति (VRS) मांगने संबंधी पत्र पर मुख्यमंत्री की भी सहमति मिल गई। सीएम मनोहर लाल ने आइजी के वीआरएस के आवेदन पर साइन करते हुए उन्हें सेवानिवृत होने की मंजूरी दे दी है। दस साल पहले रिटायरमेंट (वीआरएस) लेने वाली आइजी भारती अरोड़ा आगामी एक दिसंबर को दोपहर बाद रिटायर हो जाएंगी। प्रभु की भक्ति के लिए उन्होंने वीआरएस ली है।

आइपीएस भारती अरोड़ा ने भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति की राह पर चलने के लिए एक अगस्त 2021 को वीआरएस मांगी थी, लेकिन राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने पुनर्विचार के लिए फाइल पर नोटिंग लिख दी थी। अरोड़ा अपने फैसले पर कायम रहीं, जिसके चलते दोबारा से फाइल डीजीपी मुख्यालय से होते हुए गृह मंत्री अनिल विज और मुख्यमंत्री तक पहुंची थी। भारती अरोड़ा हरियाणा में राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी, अंबाला एसपी, कुरुक्षेत्र एसपी, राई स्पोट्र्स कांप्लेस में प्रिंसिपल, करनाल रेंज में आइजी रही हैं। Haryana IPS Bharti Arora

 

ips bharti arora

अनिल विज ने दोहराया था कि दूसरी बार उन्होंने आवेदन भेजा है, भारती अच्छी अफसर हैं लेकिन उनका व्यक्तिगत मामला है, अब हमारी ओऱ से उनके आवेदन को ओके करते हुए सीएम मनोहर लाल के पास भेज दिया गया है। जहां से मुहर लगते ही उनकी वीआरएस पक्की हो जाएगी। 

ips bharti arora 2

विज ने कहा कि उनकी कृष्ण भक्ति मार्ग पर जाने का उनका व्यक्तिगत मामला है, जिसे हम जबरन रोक नहीं सकते। 2031 में होनी है रिटायरमेंट यहां पर याद दिला दें कि भारती अरोड़ा का रिटायरमेंट 2031 में होना है। लेकिन, दस साल पहले ही वीआरएस लेने का फैसला कर चुकी है।

उनका कहना है कि पुलिस सेवा उनके लिए गर्व और जूनून रही है। जिंदगी वह धार्मिक तरीके से बिताना चाहती हैं और वह चैतन्‍य महाप्रभु, कबीरदास और मीराबाई की तरह प्रभु श्रीकृष्‍ण की साधना करना चाहती हैं। भारती ने अपने वीआरएस वाले पत्र में भी भक्ति मार्ग का उल्लेख किया था। उनकी शादी हरियाणा काडर के आईपीएस विकास अरोड़ा से हुई है।

ips Bharti Arora 22333

1998 बैच की आईपीएस अधिकारी भारती अरोड़ा इससे पहले 2009 में अंबाला की एसपी व 2011 में जीआरपी की एसपी रह चुकी हैं। प्रदेश में कबूतरबाजों पर शिकंजा कसने के लिए गृह मंत्री अनिल विज ने पिछले साल उन्हें एसआईटी का प्रभार सौंपा था। यहां रहते हुए 452 कबूतरबाजों पर शिकंजा कसने के लिए उन्हें गृह विभाग द्वारा फरवरी 2021 में सम्मानित किया गया था।

भारती अरोड़ा कई रेंज व कमिश्नरी में भी विभिन्न पदों पर अपनी बेहतरीन सेवाएं दे चुकी हैं। इसके अलावा राई स्पोर्ट्स स्कूल की प्रिंसिपल भी रह चुकी हैं। भारती अरोड़ा का जन्म 1971 को हुआ, जबकि आईपीएस बैच 1998 का है। उनकी सेवानिवृत्ति वर्ष 2031 में होनी थी। इससे करीब 10 साल पहले ही उन्होंने अब स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन किया है।

बता दें कि उनके बैच के ही पंजाब के आईपीएस कुंवर विजय प्रताप ने भी अप्रैल माह में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी। इसके बाद वह आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए थे।