Haryana Toll Tax: हरियाणा में वाहन चालकों के लिए खुशखबरी, 6 टोल टैक्स प्लाजा होंगे बंद, देखें कौनसे कौनसे हैं ये टोल टैक्स ?

 
 Haryana Toll Tax: हरियाणा में वाहन चालकों के लिए खुशखबरी, 6 टोल टैक्स प्लाजा होंगे बंद, देखें कौनसे कौनसे हैं ये टोल टैक्स ?
 

Haryana Toll Tax: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए राज्य राजमार्गों पर स्थित छः टोल प्लाजा को बंद करने की घोषणा की है। इस कदम से आम जनता को भारी राहत मिलने वाली है।

मुख्यमंत्री ने यहां एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि इन टोल प्लाजा के बंद होने से जनता को सालाना 13.50 करोड़ रुपये की बचत होगी।

उन्होंने बताया कि तीन टोल प्लाजा- स्टेट हाईवे-17 पर राजस्थान बॉर्डर के पास गांव बशीरपुर (नारनौल-निजामपुर रोड), स्टेट हाईवे-11 पर पंजाब सीमा के नजदीक गांव तातियाना (कैथल-पटियाला रोड), स्टेट हाईवे-22 पर गांव गुज्जरवास (सुबाना-कोसली-नाहर-कनीना रोड) पर स्थित टोल प्लाजा का संचालन बंद हो जाएगा।

इसी प्रकार, कैथल-खनौरी सड़क पर गांव संगतपुरा नजदीक पंजाब सीमा स्टेट हाईवे-8 पर स्थित टोल प्लाजा 10 नवंबर को बंद हो जाएगा। काला अम्ब-सढ़ारा-शाहाबाद सड़क पर गांव अशगरपुर नजदीक हिमाचल प्रदेश सीमा स्टेट हाईवे-4 तथा रोहतक-खरखौदा-दिल्ली सड़क सीमा पर गांव फिरोजपुर नजदीक दिल्ली सीमा स्टेट हाईवे-18 पर स्थित टोल प्लाजा का संचालन बंद कर दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन टोल प्लाजा को बंद करने का निर्णय आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों की मांगों को देखते हुए लिया गया है। सरकार ने इन टोल प्लाजाओं द्वारा जनता पर पड़ने वाले वित्तीय बोझ और असुविधा को पहचाना और जनता को राहत देने के लिए यह कदम उठाया है।

इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, पर्यावरण वन एवं वन्यजीव विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री विनीत गर्ग, शहर एवं ग्राम आयोजना विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अरूण गुप्ता, 

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, लोक संपर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल, नगर एवं ग्राम आयोजना विभाग के महानिदेशक एवं सचिव श्री टीएल सत्यप्रकाश, मुख्यमंत्री के ओएसडी श्री जवाहर यादव, 

मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार श्री भारत भूषण भारती, चीफ मीडिया कोऑर्डिनेटर श्री सुदेश कटारिया, मीडिया सचिव श्री प्रवीण अत्रेय व  सूचना, लोक संपर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के अतिरिक्त निदेशक श्री विवेक कालिया भी उपस्थित थे।