Haryana news : हरियाणा में किसानों को मिलेगा मोटा पैसा, 5000 एकड़ जमीन खरीदेगी सरकार, इन शहरों में बनेंगे सेक्टर

 
हरियाणा में किसानों को मिलेगा मोटा पैसा, 5000 एकड़ जमीन खरीदेगी सरकार, इन शहरों में बनेंगे सेक्टर

Haryana news : हरियाणा में किसानों की मौज होने वाली है। हरियाणा सरकार की तरफ से किसानों से 5000 एकड़ जमीन खरीदने की तैयारी है। प्रदेश के शहरों में बेहतर आवासीय सुविधाए मुहैया करवाने के लिए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) द्वारा पांच हजार एकड़ जमीन की खरीद की जाएगी। 

यह भूमि ई-भूमि पोर्टल, लैंड पूलिंग पॉलिसी या एग्रीगेटर के माध्यम से खरीदी जाएगी। सीएम मनोहर लाल ने प्राधिकरण को इसके लिए जल्द कार्ययोजना तैयार करके इस पर काम शुरू करने के निर्देश दिए हैं। वे बुधवार को चंडीगढ़ में प्राधिकरण की 126वीं बैठक में बोल रहे थे।

सीएम ने कहा कि सरकार संस्थागत ढंग से सेक्टर विकसित करना चाहती है। इससे अवैध कॉलोनियों के पनपने पर रोक लगेगी। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण अपनी सभी संपत्तियों की चाहे वह आवासीय या वाणिज्यिक या संस्थागत हो, सभी को सूचीबद्ध करें। 

उन्होंने निर्देश दिए कि फील्ड में संपदा अधिकारियों के पास नागरिकों द्वारा जमीन से संबंधित दिए गए किसी भी प्रकार के आवेदनों की जानकारी मुख्यालय को अनिवार्य तौर पर दी जाए।

बैठक में कर्मचारी राज्य बीमा (ईएसआई) डिस्पेंसरी के लिए जमीन आवंटन की मंजूरी दी गई। ईएसआई से जुड़े बीमाकृतों तथा उनके आश्रितों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए विभिन्न जिलों में ईएसआई डिस्पेंसरियों का निर्माण होगा। 

सीएम ने अंबाला के मुलाना, गुरुग्राम के फरूखनगर, झज्जर के दादरी तोय व झाड़ली, करनाल के तरावड़ी व घरौंडा, रेवाड़ी के कोसली, यमुनानगर के छछरौली तथा चरखी दादरी और पानीपत के बरसात रोड पर ईएसआई डिस्पेंसरियां स्थापित करने के लिए जमीन देने का निर्णय लिया है।

इसी तरह हिसार में लगभग 100 बैड की सुविधाओं वाला ईएसआई अस्पताल बनाया जाएगा। इसके लिए पहले ही जमीन आवंटित की जा चुकी है। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा सरकारी विभागों को कम कीमतों पर जमीन आवंटित करने के लिए बनाई गई नीति को मंजूरी प्रदान की गई। 

नीति के तहत अब जनहित में विकास कार्यों हेतु एचएसवीपी द्वारा विभिन्न सरकारी विभागों को 50 प्रतिशत दर पर जमीन आवंटित की जाएगी। हालांकि यह नियम केवल विभागों पर ही लागू होगा। बोर्ड व निगमों को निर्धारित दरों पर ही जमीन का आवंटन किया जाएगा।

बैठक में जानकारी दी गई कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के इंजीनियरिंग विंग में कार्यरत कर्मचारियों की मृत्यु के उपरांत अनुकंपा आधार पर उनके आश्रितों को नौकरी दी गई। इनमें रिशब, नमित, राहुल तथा शिवम शामिल हैं।