Haryana News: हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज का एक्शन, छह मामलों में SIT गठित, ये जांच अधिकारी बदलने के आदेश

 
 Haryana News: हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज का एक्शन, छह मामलों में SIT गठित, ये जांच अधिकारी बदलने के आदेश

चंडीगढ़, 10 फरवरी - हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने अंबाला स्थित अपने आवास पर आज प्रदेश के कोने-कोने से उमड़े सैकड़ों फरियादियों की समस्याओं को सुना। गृह मंत्री अनिल विज का जनता दरबार आजकल रद्द है, मगर इसके बावजूद प्रतिदिन उनके आवास पर फरियादी उमड़ रहे हैं।

        श्री विज ने जनता की सुनवाई करते हुए हत्या एवं अन्य मामलों की जांच के लिए छह अलग-अलग एसआईटी गठित करने के निर्देश दिए तथा कई मामलों में जांच सही तरीके से नहीं करने वाले आईओ (जांच अधिकारी) को भी बदलने के निर्देश दिए। 

कबूतरबाजी के भी कई मामलों की जांच उन्होंने एसआईटी को सौंपी। शनिवार सैकड़ों की संख्या में आए फरियादियों की समस्याओं का गृह मंत्री अनिल विज ने सुनते हुए संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए।

इन मामलों में गृह मंत्री अनिल विज ने गठित की एसआईटी

        महेंद्रगढ़ से आए फरियादी ने गृह मंत्री अनिल विज को बताया कि उसके भाई को आग लगाकर आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी थी। इस मामले में पुलिस ने अब तक सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया है और जांच भी तेज नहीं हो रही है। गृह मंत्री ने एसपी, महेंद्रगढ़ को मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

        कैथल से आए परिवार ने गृह मंत्री अनिल विज को बताया कि उनकी बेटी की हत्या ससुराल पक्ष द्वारा सोनीपत में कर दी गई थी। मौत के बाद पुलिस ने उन्हें आश्वासन दिया था कि आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, मगर आज तक न मामला दर्ज किया गया और न ही किसी आरोपी को गिरफ्तार किया गया। गृह मंत्री अनिल विज ने सोनीपत पुलिस कमिश्नर को मामले में एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

        चरखी-दादरी से आई महिला ने बताया कि उसके पति की मौत कुछ माह पूर्व सड़क हादसे में हो गई थी। हादसे के बाद पुलिस ने केवल अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर खानापूर्ति की। आज तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। गृह मंत्री अनिल विज ने एसपी, चरखी-दादरी को एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

        पलवल के गांव खाम्बी से आए फरियादी ने गृह मंत्री अनिल विज को बताया कि गांव के जोहड़ पर कुछ लोगों द्वारा कब्जा किया गया है। इस मामले में उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया था और अदालत से कब्जा हटाने के निर्देश दिए थे। प्रशासन ने कार्रवाई के लिए टीम भेजी, मगर प्रभावीशाली लोगों ने कार्रवाई नहीं होने दी। गृह मंत्री ने डीसी, पलवल को एसआईटी गठित करते हुए अदालत के आदेशानुसार कार्रवाई के निर्देश दिए। 

सिरसा से आए फरियादी ने गृह मंत्री अनिल विज को बताया कि उसने प्रापर्टी डीलर से प्लॉट की खरीद की थी, जब वह निर्माण करने लगे तो कुछ अन्य लोगों ने आकर प्रापर्टी पर अपना हक जताया। इस मामले उन्होंने केस दर्ज कराया और पुलिस ने जब राजस्व रिकार्ड चैक किया तो उसमें भी गड़बड़ी पाई गई। उसने आरोप लगाया कि मामले में तहसील कार्यालय के कर्मियों ने मामले में मिलीभगत की है। गृह मंत्री ने सिरसा के डीसी को एसआईटी गठित कर जांच के निर्देश दिए।

        फरीदाबाद से आए फरियादी ने जमीनी धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए बताया कि उसके साथ कुछ आरोपियों ने जमीनी धोखाधड़ी की। अदालत ने उसके पक्ष में फैसला दिया, मगर प्रशासन इस फैसले को लागू नहीं कर रहा और उसे जमीन का हक नहीं मिल पा रहा है। गृह मंत्री ने डीसी, फरीदाबाद को एसआईटी गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

कबूतरबाजों के फेर में फंसकर लीबिया में फंसा कैथल का युवक

गृह मंत्री अनिल विज ने कबूतरबाजी के अलग-अलग मामलों में एसआईटी गठित कर कार्रवाई के निर्देश दिए। कैथल से आए फरियादी ने बताया कि एजेंट ने उसके भाई को इटली भेजने के नाम पर पांच लाख रुपए लिए, मगर इटली के बजाए उसे लीबिया भेज दिया जहां उसके भाई को पुलिस ने पकड़ लिया। अब उसका भाई जेल में बंद है। 

        कुरुक्षेत्र से फरियादी ने बताया कि एजेंट ने उसे इंग्लैंड भेजने के नाम पर 11 लाख रुपए की ठगी की। न तो उसे इंग्लैंड भेजा गया और न ही पैसे वापस किए गए। इसी तरह, बराड़ा निवासी महिला ने बताया कि उसके पति को दुबई भेजने के नाम पर एजेंट ने उससे तीन लाख रुपए की ठगी की। अम्बाला शहर के गांव मेतला निवासी महिला ने बताया कि एजेंट ने उसके बेटे को पुर्तगाल भेजने के नाम पर पौने तीन लाख रुपए की ठगी की। अब तक एजेंट ने न पैसे लौटाए न ही बेटे को विदेश भेजा।

        इसी प्रकार, करनाल से आई महिला ने उसके बेटे को अमेरिका में दस साल से लिए वर्क वीजा पर भेजने का झांसा देकर उससे 50 लाख रुपए ठगी का आरोप लगाया।

गृह मंत्री अनिल विज ने इन मामलों में कार्रवाई के निर्देश अधिकारियों को दिए

        भिवानी से आए परिवार ने मारपीट मामले में आईओ द्वारा आरोपी पक्ष का साथ देने के आरोप लगाए जिस पर गृह मंत्री ने भिवानी के एसपी को आईओ बदलने के निर्देश दिए। कुरुक्षेत्र निवासी महिला ने दहेज उत्पीड़न के मामले में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने और आईओ द्वारा दूसरे पक्ष का साथ देने का आरोप लगाया जिस पर मंत्री विज ने आईओ से जांच बदलने के निर्देश एसपी को दिए।

इसके अलावा, कैथल से डेरा बाबा राजपुरी बड़ी देवी तालाब मंदिर कमेटी ने मंदिर पर कब्जे का आरोप लगाया। करनाल से आए विकलांग ने ठगों पर हरियाणा सहकारी समिति में नौकरी लगाने के नाम पर छह लाख रुपए ठगी करने का आरोप लगाया, फतेहाबाद निवासी व्यक्ति ने ट्रेक्टर के नाम पर लोन देने पर ठगी करने, जींद निवासी व्यक्ति ने धोखाधड़ी कर मकान पर कब्जा करने, भिवानी निवासी फरियादी ने अपनी ही पत्नी पर घर पर कब्जे का आरोप लगाया।

        इसी तरह, खानपुर अम्बाला निवासी महिला ने बेटे के हत्यारों पर उसे भी धमकाने का आरोप लगाया, करनाल के गांव नलीपार निवासी युवक ने यमुना नदी के डेंजर जोन माइनिंग करने का आरोप लगाया। सोनीपत निवासी फरियादी ने चोरी के मामले में कार्रवाई नहीं होने, अम्बाला शहर निवासी मजदूर ने ठेकेदार पर उसकी 32 हजार रुपए मजदूरी नहीं देने, कुरुक्षेत्र निवासी व्यक्ति ने प्राइवेट कंपनी पर लेबर उपलब्ध कराने पर उसे 10 लाख रुपए राशि नहीं देने का आरोप लगाया।

        इसके अलावा, अन्य कई मामले सामने आए जिन पर गृह मंत्री अनिल विज ने संबंधित जिलों के अधिकारियों को कार्रवाई के दिशा-निर्देश दिए।