हरियाणा दुनिया भर के निवेशकों की बना पहली पसंद - मनोहर लाल

 जापानी सहित अन्य मल्टीनेशनल कंपनियाँ हरियाणा में निवेश करने के लिए लगातार हो रही हैं आकर्षित
 
 हरियाणा दुनिया भर के निवेशकों की बना पहली पसंद -  मनोहर लाल

चण्डीगढ़, 9  फरवरी - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश की  लाभप्रद भौगोलिक स्थिति, प्रगतिशील नीतियों और मजबूत बुनियादी ढांचे के कारण  आज हरियाणा वैश्विक निवेशकों के लिए शीर्ष पसंद बन गया  है।  इज़  ऑफ डूइंग बिजनेस में प्रदेश की लगातार बेहतरीन रैंकिंग और लोकेशन  एडवांटेज के चलते जापानी सहित अन्य मल्टीनेशनल कंपनियाँ हरियाणा में निवेश करने  के लिए लगातार रूचि दिखा रही हैं। 

       मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल आज नई दिल्ली में आयोजित ग्लोबल बिज़नेस समिट में बोल रहे थे। 

       उन्होंने कहा कि 500 फॉर्चून कंपनी में से 400 कंपनी के ऑफिस गुरुग्राम में पहले से ही स्थापित है।   50 बड़ी जापानी कंपनियों के साथ हाल ही में हमने अपने रिलेशंस बढ़ाने के लिए एक सफल सेमिनार भी आयोजित  किया है। मेगा प्रोजेक्ट  की स्थापना के लिए कई प्रकार की रियायत देने के साथ साथ  उद्योगों के लिए स्किल्ड लेबर फोर्स भी यहाँ उपलब्ध है।  गुरुग्राम के आसपास का  फरीदाबाद, पलवल, झज्जर, रेवाड़ी, सोनीपत सहित अन्य एनसीआर एरिया आज इन्वेस्टमेंट के लिए प्रीफ़र्ड डेस्टिनेशन अर्थात् पहली पसंद  बन चुका है।

       श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की  नीति, नियत और उनके नेतृत्व का अनुसरण करते हुए 2014 में हरियाणा प्रदेश में  सत्ता की बागडोर सँभालने के बाद  शासन को सेवा मानते हुए थ्री 'सी' - करप्शन, क्राइम, और कास्ट बेस्ड  पॉलिटिक्स - को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए लगातार सफल कार्य किया जा रहा है।  सरकारी नौकरियों में पारदर्शिता  के साथ  मिशन मेरिट की अवधारणा को लागू किया।  डिजिटाइजेशन का उपयोग कर हमने सरकारी सर्विसेज को डोर टू डोर डिलीवर करने की दिशा में सफल कार्य किया है।  उन्होंने कहा कि अभी  भी बहुत कुछ करना शेष  है।  हम विरासत में मिली सभी गलत व्यवस्थों को समाप्त करते हुए हरियाणा प्रदेश को  राम राज्य की तरफ लेकर जाएंगे।

हरियाणा को विकासोन्मुख प्रदेश बताते हुए श्री मनोहर लाल ने कहा कि  हरियाणा प्रदेश की आबादी देश की आबादी का मात्र  2 प्रतिशत और  एरिया 1.3 प्रतिशत है, फिर भी  आज जीएसडीपी में प्रदेश का योगदान 3.69 प्रतिशत है। आने वाले  4-5 वर्षों में यह आंकड़ा 4 प्रतिशत तक पहुँचने की सम्भावना है ।  उन्होंने कहा कि हमारा एक्सपोर्ट बढ़ रहा है, हमारी इंडस्ट्री बढ़ रही है, हमारा अपॉइंटमेंट बढ़ रहा है और हमारे टैक्स कलेक्शन भी बढ़ रहा है।  जीएसटी कलेक्शन में बड़े राज्यों में आज हरियाणा राज्य नंबर एक पायदान पर आया है।  

       उन्होंने कहा कि  किसानों की चिंताओं को ख़त्म  करने के लिए ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ सहित अन्य कल्याणकारी योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है।  किसान की फसल का पैसा सीधे उसके खाते  में प्रदान किया जा रहा है, जिससे किसान लखपति बन गया है। 

       हरियाणा प्रदेश की अनूठी परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) योजना का उल्लेख करते हुए श्री मनोहर लाल ने बताया कि पीपीपी के  कारण आज पात्र लोगों को  घर बैठे ही सभी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है।  पीपीपी को ‘गवर्नमेंट टू डोर स्टेप’ बताते हुए उन्होंने कहा कि आज वर्तमान सरकार नीड बेस्ट एक्शन लेकर लोगों की आवश्यकताओं  को पूरा कर रही है।  इससे प्रदेश के  गरीब परिवारों  की चिंता खत्म हो गई और वंचितों को बहुत लाभ मिल रहे हैं। 

       इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, श्री आनंद मोहन शरण, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर,सूचना, जन सम्पर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के महानिदेशक श्री मंदीप सिंह बराड़, विभाग के अतिरिक्त निदेशक (प्रशासन), श्री विवेक कालिया और मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार श्री राजीव जेटली के अलावा अन्य गणमान्य भी उपस्थित थे।

क्रमांक-2024