Chopaltv.com
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने दिया इस्तीफा, बताई ये वजह
 
 

मीडिया से बात करते हुए विजय रूपाणी ने कहा कि मैं बीजेपी के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ. बीजेपी ने मेरे जैसे कार्यकर्ता को सीएम जैसे पद की बड़ी जिम्मेदारी दी थी. पीएम मोदी ने मेरा मार्गदर्शन किया और गुजरात उनके ही मार्गदर्शन में आगे बढ़ा है

विजय रूपाणी ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री पद से त्याग पत्र देकर पार्टी के संगठन में शामिल होना चाहता हूँ. संगठन के साथ नई ऊर्जा के साथ काम करना चाहता हूँ. मुझे बीजेपी जो भी जिम्मेदारी देगी, उसे निर्वहन करूँगा.

विजय रुपाणी के इस्तीफे के बाद अब तीन नामों को आगे बताया जा रहा है जिसमें मनसुख मण्डविया,पुरुषोत्तम रुपाला और नितिन पटेल इन तीनो में से एक गुजरात का नया सीएम हो सकता है।

2 अगस्त 1956 को जन्मे विजय रूपाणी गुजरात के 16वें सीएम थे. उन्होंने गुजरात के सीएम के तौर पर 7 अगस्त 2016 को शपथ ली थी. आज ही विजय रूपाणी पीएम मोदी के साथ एक कार्यक्रम में भी शामिल हुए थे. इसके कुछ घंटे बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया. पीएम मोदी के वर्चुअल कार्यक्रम में विजय रूपाणी मौजूद थे. बीजेपी के लिए सीएम का इस्तीफ़ा बड़ा झटका माना जा रहा है.

अहमदाबाद: इस समय एक बड़ी खबर गुजरात से आ रही है, जहां पर सीएम विजय रुपाणी ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। राज्यभवन से निकलने के बाद रुपाणी मीडिया को संबोधित करेंगे और अपने निर्णय के बारे में अवगत कराएंगे।

बता दें कि गुजरात में आम आदमी पार्टी भी अपनी पैठ बनाने में लगी हैं और वह पिछले कुछ दिनों से कोरोना महामारी से मारे गए लोगों के परिजनों से भी मुलाकात कर रही है।

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस्तीफा दे दिया है। वे मीडिया से बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि पार्टी में समय के साथ दायित्व बदलते रहते हैं। पार्टी में यह स्वभाविक प्रक्रिया है। मुझे 5 साल के लिए मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी मिली, यह बहुत बड़ी बात है।

रुपाणी ने कहा कि जेपी नड्‌डा जी का भी मार्गदर्शन मेरे लिए अभूतपूर्व रहा है। अब मुझे जो भी जिम्मेदारी मिलेगी मैं उसका निर्वहन करूंगा। हम पद नहीं जिम्मेदारी कहते हैं। मुझे जो जिम्मेदारी मिली थी वह मैंने पूरी की है। हम प्रदेश के चुनाव नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई में लड़ते हैं और 2022 का चुनाव भी उन्हीं की अगुवाई में लड़ा जाएगा।

बता दें रुपाणी ने 26 दिसंबर 2017 को दूसरी बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। बीजेपी ने गुजरात में 182 सीटों में से 99 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया था। विधानमंडल दल की बैठक में रुपाणी को विधायक दल का नेता और नितिन पटेल को उपनेता चुना गया था।