नकली हेलमेट, कुकर और सिलिंडर बेचने वालों पर सरकार की सख्ती, ई-कॉमर्स कंपनियों को भी नोटिस
 

Chopal Tv, New Delhi

सड़क और घरों में होने वाले हादसों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। नकली हेलमेट, कुकर और सिलिंडर के इस्तेमाल से जान का खतरा बना रहता है। सस्ते होने की वजह से आम लोग इनकी खरीदारी करने से बाज नहीं आ रहे।

लेकिन अब सरकार निकली उत्पादों की बिक्री और निर्माण को लेकर सख्त रवैया अपना रही है। नकली उत्पादों की बिक्री और निर्माण पर रोक लगाने के लिए सरकार देशभर में अभियान चलाएगी। केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण ने कहा कि फर्जी आईएस मुहर वाले प्रेशर कुकर, दोपहिया हेलमेट और रसोई गैस सिलिंडर बेचने वालों के खिलाफ देशभर में अभियान चलाया जा रहा है।

सीसीपीए की मुख्य आयुक्त निधि खरे ने कहा, खुदरा विक्रेताओं के साथ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर धड़ल्ले से बिक्री की जा रही है। हमने पहले ही अमेजन, फ्लिपकार्ट सहित पांच ई-कॉमर्स कंपनियों को नोटिस जारी किया है।

fake helmate

ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर ऐसे प्रेशर कुकर बेचे जा रहे, जो भारतीय मानक ब्यूरो के मानदंडों को पूरा नहीं करते हैं। बाजारों में ऐसे नकली उत्पादों की बिक्री पर लगाम के लिए सीसीपीए ने सभी जिला कलेक्टरों को जिन कंपनियों के खिलाफ उपभोक्ता अधिकारों के उल्लंघन की शिकायतें मिली हैं उनकी जांच करने को कहा है।

अपने क्षेत्राधिकार में जांच करने के बाद अगले दो माह में इसकी रिपोर्ट भेजेंगे। खरे ने बताया कि इसके अलावा सीसीपीए व्यक्तिगत रूप से भी इन उत्पादों की निगरानी कर रहा है। ऐसे मामले सामने आने पर हम आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे।

उपभोक्ता भी रहें सतर्क

उभोक्ताओं को भी सतर्क रहने की जरुरत है। खरीदारी करते समय उपभोक्ता सुरक्षा के लिए बीआईएस का भारतीय मानक निशान जरूर देखें। वेबसाइटों पर भी ग्राहक उत्पादों के फीचर्स में आईएस निशान देखकर ही ऑर्डर करें।

उपभोक्ताओं को जानकारी होनी चाहिए कि प्रेशर कुकर, दोपहिया हेलमेट और रसोई गैस सिलिंडर की बिक्री बिना आईएस निशान के नहीं की जा सकती है। हेलमेट पर आईएस 4151:2015 व प्रेशर कुकर पर आईएस 2347:2017 का निशान देखकर ही खरीदना चाहिए।