Chopaltv.com
ओपी चौटाला से मिलने पहुंचे बिहार के सीएम नीतीश कुमार, जानिए क्या रहा खास ?
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व JDU महासचिव K C त्यागी पहुंचे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री । चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के गुरुग्राम निवास स्थान पर। नीतीश कुमार ने चौटाला साहब के स्वास्थ्य एवं हाल चाल जाना। दोपहर का भोजन साथ किया। साथ ही नीतीश कुमार और के सी त्यागी के...
 
ओपी चौटाला से मिलने पहुंचे बिहार के सीएम नीतीश कुमार, जानिए क्या रहा खास ?

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व JDU महासचिव K C त्यागी पहुंचे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री । चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के गुरुग्राम निवास स्थान पर। नीतीश कुमार ने चौटाला साहब के स्वास्थ्य एवं हाल चाल जाना।

दोपहर का भोजन साथ किया।
साथ ही नीतीश कुमार और के सी त्यागी के साथ देश एवं प्रदेश के मौजूदा हालातों पर चर्चा हुई। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और के सी त्यागी ने स्वर्गीय ताऊ देवीलाल के साथ राजनीतिक रूप से कार्य किया है और उनके संघर्ष के साथी रहे हैं।

ओपी चौटाला से मिलने पहुंचे बिहार के सीएम नीतीश कुमार, जानिए क्या रहा खास ?

बैंकिंग शुल्क बढ़ाने पर सबसे ज्यादा मार आम गरीब जनता पर पड़ेगी: अभय सिंह चौटाला

जिस तरह से भाजपा सरकार हररोज टैक्स व अन्य शुल्क बढ़ा रही है उसको देखते हुए भाजपा सरकार की मंशा पर प्रश्रचिन्ह लग गया है

भाजपा सरकार का गरीब को और गरीब बनाने की तरफ यह एक और कदम है

चंडीगढ़, 1 अगस्त: पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं इंडियन नेशनल लोकदल के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने बैंकिंग लेनदेन पर बढाए गए शुल्क पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसकी सबसे बड़ी मार रेहड़ी-फड़ी वाले, आटो-रिक्शा चालक, छोटा व्यापारी व आम गरीब जनता के उपर पड़ेगी।

उन्होंने कहा कि नए बैंकिंग नियमों के कारण अब लेनदेन पर न्यूनतम 150 रूपए शुल्क लगेगा, साथ ही एक महीने में तीन वित्तीय लेनदेन के बाद 20 रूपए शुल्क और गैर वित्तीय लेनदेन पर 8.50 रूपए शुल्क लगेगा दूसरे बैंकों के एटीएम से रकम निकालने पर अब 15 रूपए की बजाए 17 रूपए देना पड़ेगा साथ ही चेक से लेनदेन पर भी शुल्क बढा दिए गए हैं जो किसी भी तरह से न्यायसंगत नहीं है।

जो छोटे व्यापारी और हररोज मेहनत मजदूरी करके कमाने वाले हैं उनके पास कमाए गए पैसों को रखने का कोई सुरक्षित ठिकाना नहीं होता है इसलिए वो सभी बैंक अकाउंट का इस्तेमाल करते हैं। रोजमर्रा की कमाई को हररोज अपने बैंक अकाउंट में जमा करते हैं और जरूरत पडऩे पर पैसे निकालते हैं।

अभय सिंह चौटाला ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा की गई नोट बंदी का मु य उद्देश्य यही था कि काले धन पर लगाम लगे, सभी लोगों का बैंको की तरफ रूझान बढ़े और ज्यादा से ज्यादा लोग डिजिटल माध्यम अपनाएं। लेकिन जिस तरह से भाजपा सरकार हररोज टैक्स व अन्य शुल्क बढ़ा रही है उसको देखते हुए भाजपा सरकार की मंशा पर प्रश्रचिन्ह लग गया है।

अब लोग फिर से नगदी में व्यापार करने लगेंगे और बैंको की तरफ लोगों का विश्वास भी खत्म होने लगेगा।
इनेलो नेता ने कहा कि सभी बैंकों ने उनके बड़े खाताधारियों को प्रिविलेज कस्टमर बनाया हुआ है जिन पर किसी भी प्रकार का लेनदेन शुल्क नहीं लगता लेकिन जो गरीब और आम ग्राहक है उन्ही पर इसकी मार पड़ रही है।

भाजपा सरकार का गरीब को और गरीब बनाने की तरफ यह एक और कदम है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि जो व्यकित जिस बैंक का ग्राहक है और बैंक उससे लेनदेन का वार्षिक शुल्क वसूल करता है कम से कम उस बैंक के ग्राहकों को तो इन लेनदेन शुल्क पर छूट मिलनी चाहिए चाहे वो एक दिन में कितनी बार भी लेनदेन करे।